‘‘मैं कौन हूं तुम्हारी?’’ सुमन ने प्रेम से पूछा.

‘‘यह क्या पूछ लिया. मैं तुम से प्यार करता हूं. तुम मुझ से प्यार करती हो,’’ प्रेम ने कहा.

‘‘और घर पर तुम्हारी पत्नी है, बच्चे हैं. फिर मैं क्या लगी रिश्ते में तुम्हारी?’’ सुमन ने थोड़े गुस्से में पूछा.

‘‘क्या प्यार काफी नहीं?’’

‘‘इस प्यार का नाम क्या है?’’

Tags:
COMMENT