घर की बड़ी बेटी होने का दंड सहती टुलकी के बोझिल जीवन में आखिर वह कौन सा समय आया जब एक बंद पिंजरे की मैना को ऊंची उड़ान भरने का अवसर मिला.
अनलिमिटेड कहानियां आर्टिकल पढ़ने के लिए आज ही सब्सक्राइब करेंSubscribe Now