बिहार में वर्ल्ड लैवल का अकेला मोइनुल हक स्टेडियम कबाड़खाना बन कर रह गया है. साल 1996 में भारत में हुए क्रिकेट वर्ल्ड कप का एक मैच इस स्टेडियम में खेला गया था. उस समय इस स्टेडियम को दोबारा चकाचक बनाया गया था, पर उस के बाद इस ओर झांकने की फुरसत किसी को नहीं है. पटना के राजेंद्र नगर इलाके में 30 एकड़ में बने इस स्टेडियम में 4 क्रिकेट पिच बनी हुई हैं. 2 पवेलियन और 4 ड्रैसिंग रूम हैं. इस की बाउंड्री 70 यार्ड की है. पिचों की हालत इतनी खराब है कि पता ही नहीं चलता है कि कहां पिच है और कहां आउटफील्ड है.

COMMENT