भारत के हृदय में बसा छत्तीसगढ़ सैलानियों के आकर्षण का केंद्र बनता जा रहा है. छोटीछोटी पर्वतमालाएं और इस की गोद में अठखेलियां करती नदियां बरबस ही अपनी ओर ध्यान आकर्षित करती हैं. जगदलपुर हरेभरे पहाड़ों, गहरी घाटियों, घने जंगलों, नदियों, झरनों, गुफाओं, प्राकृतिक पार्क, शानदार स्मारकों, समृद्ध प्राकृतिक संसाधनों और आनंदमय एकांत से भरापूरा है. प्राकृतिक सौंदर्य और जंगली जानवरों के लिए विशाल संरक्षित वन से समृद्ध जगदलपुर अपनी पारंपरिक लोक संस्कृति के लिए जाना जाता है जो इस क्षेत्र को विशिष्टता प्रदान करती है. इस बार हम आप को जगदलपुर के प्रसिद्ध पर्यटक स्थलों की सैर कराने जा रहे हैं–

चित्रकोट का जलप्रपात

छत्तीसगढ़ की राजधानी रायपुर से 274 किलोमीटर दूर स्थित जगदलपुर से 39 किलोमीटर की दूरी पर बहती इंद्रावती नदी के पास चित्रकोट जलप्रपात है. यह सैलानियों के आकर्षण का केंद्र है. चित्रकोट जलप्रपात छत्तीसगढ़ में सब से लोकप्रिय झरने के रूप में सूचीबद्ध है. इस जलप्रपात की ऊंचाई 90 फुट है. यह बस्तर संभाग का सब से प्रमुख जलप्रपात माना जाता है. जगदलपुर से समीप होने के कारण यह एक प्रमुख पिकनिक स्पौट के रूप में भी प्रसिद्धि प्राप्त कर चुका है. राज्य के बस्तर अंचल में स्थित जगदलपुर का चित्रकोट जलप्रपात इतना मनमोहक और आकर्षक है कि इसे भारत का नियाग्रा कहा जाता है. इस जलप्रपात की खासीयत यह है कि बारिश के दिनों में यह रक्तिम लालिमा लिए हुए होता है जबकि गरमी की चांदनी रात में यह झक सफेद नजर आता है.

यह जगह छत्तीसगढ़ के शीर्ष इकोटूरिज्म स्थलों में शुमार है. यहां आने के लिए रायपुर से जगदलपुर तक सड़क और रेलमार्ग द्वारा पहुंचा जा सकता  है.जगदलपुर में स्थित मानव विज्ञान संग्रहालय, बस्तर, जनजाति की जीवनशैली और संस्कृति पर प्रकाश डालता है. बस्तर पैलेस जगदलपुर का एक अन्य आकर्षण है जो ऐतिहासिक अवशेष है. वर्तमान में बस्तर के शाही परिवार वहां रह रहे हैं. जगदलपुर में स्थित इंद्रावती नैशनल पार्क और कांगेरघाटी नैशनल पार्क भी मुख्य आकर्षण हैं.

इंद्रावती राष्ट्रीय उद्यान

 त्तीसगढ़ के बेहतरीन और सब से मुख्य वन्यजीव उद्यानों में से एक इंद्रावती राष्ट्रीय उद्यान है. यह उद्यान पशुओं, पक्षियों और सरीसृप की व्यापक प्रजातियों के लिए प्रसिद्ध है. इंद्रावती राष्ट्रीय उद्यान को 1981 में राष्ट्रीय उद्यान घोषित किया गया और बाद में 1983 में इसे भारत के प्रसिद्ध प्रोजैक्ट टाइगर के तहत टाइगर रिजर्व का दरजा मिला. यह छत्तीसगढ़ में एकमात्र टाइगर रिजर्व है. दुर्लभ जंगली भैंसे और हिरण उद्यान के मुख्य आकर्षण हैं. उद्यान की यात्रा करने के लिए सब से अच्छा मौसम जून से दिसंबर के दौरान का होता है.

तीरथगढ़ का जलप्रपात

पूरे बस्तर क्षेत्र में कई और जलप्रपात भी अपार जलराशि के कारण सैलानियों को विहंगम अनुभूति से भर देते हैं. इन में तीरथगढ़ का जलप्रपात  प्रसिद्ध है. यह जगदलपुर से 25 किलोमीटर दूर कांगेर (फूलों की घाटी) वैली राष्ट्रीय उद्यान में है. यहां का नैसर्गिक सौंदर्य शहरी सैलानियों को रोमांच और कुतूहल से भर देता है. जगदलपुर के समीप 30 किलोमीटर की दूरी पर प्राकृतिक रूप से बनी कोटमसर गुफा भी है. यह विश्वप्रसिद्ध है.इस के अलावा, जगदलपुर इलाके का तमारा घूमर झरना भी पर्यटकों के आकर्षण का केंद्र है. यह झरना जगदलपुर से लगभग 45 किलोमीटर की दूरी पर स्थित है. क्षेत्र के हरेभरे वन वाली भूमि, गहरी घाटियां और शानदार पहाडि़यों जैसे प्राकृतिक  सौंदर्य इस जगह की खूबसूरती को बढ़ाते हैं और अपनी ओर पर्यटकों को आकर्षित करते हैं.

COMMENT