पिताजी औफिस से आए तो उन के चेहरे पर उदासी छाई हुई थी. यह देख कर उन के बेटे मुकुल ने पूछा, ‘‘पापा, क्या बात है, आज आप बहुत उदास नजर आ रहे हैं ’’\‘‘हां बेटा, दरअसल, हमारे साथ काम करने वाले हमारे पुराने सहयोगी दामोदर की अचानक मृत्यु हो गई है जिस कारण मैं उदास हूं,’’ पापा ने बताया. यह सुन कर मुकुल सोचने लगा, ‘सैकड़ों लोग पापा के साथ काम करते हैं, आखिर दामोदर अंकल में क्या खास बात थी कि उन की मृत्यु से वे इतने उदास हैं.’ कुछ सोच कर मुकुल ने इस का कारण पूछ ही लिया, तो पापा ने बताया, ‘‘बेटे, मुझे दामोदर की मृत्यु का बहुत दुख है क्योंकि इतने अच्छे, योग्य और ईमानदार आदमी आजकल बहुत कम मिलते हैं जिन पर पूरी तरह भरोसा किया जा सके.’’

Tags:
COMMENT