धमकियां कितनी वास्तविक और कितनी दिखावटी हो सकती हैं, यह अंदाज लगाना मुश्किल है. पुरानी कहावत है कि जो गरजते हैं वे बरसते नहीं. लेकिन सदा ऐसा नहीं होता. कई बार ये गरजने वाले बादल औरों को भयंकर बारिश आने का संकेत दे कर भयभीत कर देते हैं. ऐसे कई उदाहरण हैं जो इस कहावत को झूठा सिद्ध करते हैं.

COMMENT