20 नवंबर, 2016 को कानपुर के पास पुखरावां में ‘पटनाइंदौर ऐक्सप्रैस’ ट्रेन को बम से उड़ाने की साजिश के मास्टरमांइड शमसुल हुदा की गिरफ्तारी के बाद पता चला कि उस के तार नेपाल और आईएसआई से जुड़े हुए थे. इस हादसे से एक बार फिर यह साबित हो गया है कि आईएसआई नेपाल के रास्ते भारत में आतंकी वारदातों को फैलाने की मुहिम में लगा हुआ है. शमसुल हुदा पिछले कई सालों से भारतनेपाल के सरहदी इलाकों में अपना नैटवर्क फैलाने में लगा हुआ था. आईएसआई के इशारे पर वह कई दिनों से ड्रग्स, हथियार और नकली नोटों को भारत भेजने का काम कर रहा था. नेपाल के बारा जिले के मोनाजिर अंसारी, आशीष सिंह, उमेश कुर्मी और शंभू के साथ मिल कर शमसुल हुदा अपनी मजबूत पकड़ बना चुका था. उस के बाद ही आईएसआई ने उसे पालनापोसना शुरू किया. ‘पटनाइंदौर ऐक्सप्रैस’ ट्रेन को दुघर्टनाग्रस्त करने के बाद वह दुबई भाग गया था.

COMMENT