‘4 बज गए, लेकिन पार्टी अभी बाकी है...’ हनी सिंह का गाया यह गाना पार्टियों में न चले और युवा इस पर न थिरकें ऐसा हो ही नहीं सकता. खासकर लेटनाइट पार्टीज में तो यह गाना युवाओं की जान है.

मौडर्न युग में लेटनाइट पार्टीज युवाओं के लाइफस्टाइल का अहम हिस्सा बनती जा रही हैं और हों भी क्यों न, तनाव भरी लाइफ में कुछ पल सुकून से गुजारने के लिए लेटनाइट पार्टीज ऐंजौयमैंट का बैस्ट जरिया जो हैं. जहां डांस, मस्ती, गेम्स व दोस्तों के साथ लाइफ का मजा लेने का चांस मिलता है, वहां कोई रोकनेटोकने वाला नहीं होता. तो फिर क्यों न लिया जाए ऐसी पार्टीज का मजा? कुछ युवाओं की भी लेटनाइट पार्टीज के बारे में ऐसी ही राय है

COMMENT