केन्द्र सरकार ने लालबत्ती को खत्म कर वीवीआईपी कल्चर खत्म करने की बात कही है. प्रधानमंत्री नरेन्द्र मोदी ने 31वीं बार लोगों से अपनी मन की बातमें कहा कि अब वीआईपी नहीं ईपीआई यानि एवरी पर्सन इज इंपॉर्टेंट का जोर होगा. प्रधानमंत्री ने कहा कि देश में वीआईपी संस्कृति के खिलाफ लोगों में नफरत है. प्रधानमंत्री की बात अपनी जगह सही है. देखने वाली बात यह है कि वीआईपी कल्चर केवल लाल और नीली बत्ती में ही नहीं है. हर सरकार के समय में उसके कार्यकर्ताओं में भी वीआईपी कल्चर आ जाता है. उत्तर प्रदेश में योगी सरकार के समय में लाल गमछासंस्कृति वीवीआईपी कल्चर बन गया है.

COMMENT