भावी पीढ़ी अपने पुश्त दर पुश्त चले आ रहे व्यवसाय या पेशे को ही अपने जीविकोपार्जन के रूप में अपनाए, यह धारणा अब पुरानी हो चुकी है. आज के दौर में मातापिता अपने बच्चों को उन की रुचि के अनुसार काम या पेशा चुनने की छूट देते हैं. देश की सत्ता संभाल रहे धुरंधर राजनेताओं के बच्चों ने भी क्या अपने मातापिता की भांति राजनीति में अपनी सक्रियता दिखाई है या किसी दूसरे क्षेत्र में अपनी सफलता के झंडे गाड़े हैं, यह विषय रोचक होने के साथ ही खासा महत्त्व का भी है.

COMMENT