जातीय नफरत का भेडि़या इस बार देशभक्ति की खाल में है. हैदराबाद सैंट्रल यूनिवर्सिटी से निकल कर अब यह राजधानी दिल्ली के जवाहरलाल नेहरू विश्वविद्यालय में घुस आया. हैदराबाद में रोहित वेमुला का शिकार करने के बाद उस ने अब कन्हैया कुमार को दबोच लिया है. देशभर के विश्वविद्यालय, खासतौर से केंद्रीय विश्वविद्यालयों के कैंपस उबल रहे हैं. देश 2 भागों में बंटा दिखाईर् दे रहा है. देशभक्ति पर बहस छिड़ी हुई है. एक कन्हैया कुमार को राष्ट्रद्रोही साबित करने पर तुला है तो दूसरा देशभक्त. सरकार पर विरोधी विचारों के दमन के आरोप लग रहे हैं.

COMMENT