तीसरे विश्व योगा डेको सफल बनाने के लिये केन्द्र सरकार और उत्तर प्रदेश सरकार ने पूरी ताकत लगा दी. योगा डेपर प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी के साथ लखनऊ के रमा देवी अम्बेडकर पार्क में आने वालों को योग करने के लिए चटाई, टीशर्ट, नाश्ता और पानी से लेकर बहुत सारे इंतजाम प्रदेश सरकार ने किये.

योग करने वालों को कहा गया कि वह सब सुबह 5 बजे से पहले पार्क में पहुंच जायें. सबके लिये रजिस्ट्रेशन किया गया था और सबकी योग करने की जगह को भी फिक्स कर दिया गया था. हर योग करने वाले को पहले से तय चटाई पर ही योग करना था. रात में ही बदले मौसम को देखते हुये सभी योग करने वालों को यह मैसेज भेज दिया गया कि अगर योग करते समय बरसात शुरू हो जाती है तो आपको कहीं भागना नहीं है. तय जगह पर ही बने रहना है. उस समय तक बरसात की संभावना कम थी.

21 जून की सुबह जब योगा शुरू हुआ तो बरसात भी शुरू हो गई. ऐसे में योगा डे रेनी डे बन गया. लोगों ने योग करने वाली चटाई को ही अपने सिर पर डाल कर पानी से अपना बचाव किया. ऐसे में योग करने का न तो सही से समय मिल पाया और न ही योग हो पाया. योग करने की तैयारी पूरे शहर में बड़े पैमाने पर चल रही थी. लोगों को योग करने से अधिक प्रधानमंत्री के साथ योग करने की खुशी थी. अफसोस की बात यह थी कि योग करने से पहले ही लोगों के मोबाइल फोन जमा करा लिये गये थे जिससे वह सेल्फी लेने से वंचित रह गये.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
COMMENT