अखिलेश सरकार के मंत्रिमंडल विस्तार में सबसे अधिक चर्चा का विषय गायत्री प्रजापति का बर्खास्त और बहाल होना था. मंत्री पद पर बहाल होने के बाद जिस तरह से गायत्री ने सपा प्रमुख मुलायम सिंह यादव और मुख्यमंत्री अखिलेश यादव के पैर छुये, वो अलग सीन बन गया था. पैर छूने के विषय में गायत्री ने कहा ‘मुलायम और अखिलेश जमीन से जुडे नेता हैं. उन तक पहुंचना सरल है. देश में ऐसे नेता भी हैं जो मंच पर केवल अपने लिये ही कुर्सी रखते हैं. कुछ बड़े नेता आम कार्यकर्ताओं से इतनी दूरी रखते हैं कि उन तक पहुंचना मुश्किल हो जाता है.’ राजनीति में पैर छूने की संस्कृति नई नहीं है. अलग अलग समय पर अलग अलग नेता चर्चा में रहे हैं. नेताओं को खुश करने के लिये हर उपाय लोग करते हैं.

COMMENT