प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और बिहार के मुख्यमंत्री नीतीश कुमार की बढ़ती नज़दीकियों से चिंतित लोहियावादियों और तीसरी ताकतों के मुखियाओं के लिए यह बात सुकून देने वाली है कि कम से कम समान नागरिक संहिता के संवेदनशील मुद्दे पर नीतीश मोदी सरकार के साथ नहीं हैं. दूसरे लफ्जों में कहें तो सांप्रदायिक ताकतों से लड़ने का दम भरने बाले राजनैतिक दलों के समूह में बने हुये हैं.

COMMENT