शराब पर बैन लगने के बाद बिहार पूरी तरह से ‘ड्राई स्टेट’ बन गया है. इस के बाद जहां शराबियों की हालत डगमग है, वहीं राज्य के बौर्डर पार के इलाकों में शराब के नए बाजार सजने लगे हैं. बिहार से सटे नेपाल देश के बौर्डर वाले इलाकों में तो शराब का धंधा कई गुना बढ़ गया है, वहीं बिहार से सटे झारखंड, उत्तर प्रदेश, पश्चिम बंगाल वगैरह राज्यों के बौर्डरों पर भी शराब का धंधा दिन दूना रात चौगुना फलनेफूलने लगा है. लेकिन एक अच्छी बात यह भी है कि शराब पीने वाले मजबूरी में अब अपनी पीने की बुरी लत को छुड़ाने के लिए नशा मुक्ति केंद्रों में पहुंचने लगे हैं. राज्य के सभी 38 जिलों में 11 अप्रैल, 2016 तक तकरीबन डेढ़ हजार लोग ऐसे केंद्रों पर पहुंच चुके हैं.

COMMENT