जी हां, अदरक चाय, सब्जी और दूसरी डिशेज बनाने के साथ-साथ पाचन दुरुस्त रहता है और इसमें मौजूद एंटीऑक्सीडेंट्स आपको कई बीमारियों से बचाते हैं. मगर कई ऐसी स्वास्थ्य समस्याएं या स्थितियां हैं, जिनमें अदकर खाना आपके लिए नुकसानदायक हो सकता है.

ये भी पढ़ें- फैशन नहीं हेल्थ की दुश्मन है ये 5 चीजें…

पित्त में पथरी

पित्त की पथरी होने पर अदरक का सेवन खतरनाक हो सकता है. दरअसल अदरक के सेवन से शरीर में बाइल जूस (पाचक रस) ज्यादा मात्रा में बनना शुरू हो जाता है. पित्त की पथरी होने पर ये ज्यादा बाइल जूस का निर्माण खतरनाक हो सकता है. इसलिए ऐसी स्थिति में अदरक का सेवन न करें.

सर्जरी या औपरेशन

किसी सर्जरी या औपरेशन से 2 सप्ताह पहले आपको अदरक का सेवन बंद कर देना चाहिए. इसका कारण यह है कि अदरक का सेवन करने से रक्त पतला हो जाता है, जो सामान्य स्थिति में शरीर के लिए सही है. मगर सर्जरी के समय अदरक का सेवन करने से आपके शरीर से ज्यादा मात्रा में रक्त बह सकता है.

ये भी पढ़ें- आखिर क्यूं होती है दूध से एलर्जी, जाने यहां…

गर्भवती महिलाएं के लिए है हानिकारक

अदरक में ऐसे तत्व होते हैं, जो पाचन को बेहतर बनाते हैं. मगर प्रेग्नेंसी के दौरान अदरक का सेवन नहीं करना चाहिए. अदरक खाने से बच्चे का जन्म समय से पहले (प्रीटर्म बर्थ) हो सकता है, जो बच्चे की सेहत के लिए सही नहीं है. डौक्टर्स के मुताबिक आखिरी छठवें महीने के बाद अदरक का सेवन बेहद कम करना चाहिए. मौर्निंग सिकनेस से निजात पाने के लिए आप इसके छोटे-छोटे 2-3 टुकड़ों का सेवन कर सकते है.

ये भी पढ़ें-  इन 6 तरीकों से मच्‍छरों को रखें अपने बच्चों से दूर…

दुबले-पतले लोग अदरक का सेवन कम करें

अगर आप दुबले-पतले हैं, तो आपको अदरक का सेवन कम करना चाहिए. अदरक में फाइबर होता है और ये शरीर के पीएच लेवल को बढ़ा देता है, जिससे भोजन को पचाने वाले एंजाइम्स एक्टिवेट हो जाते हैं. इससे आपका फैट तेजी से बर्न होता है और भूख कम लगती है, जिससे वजन कम होने लगता है. यही कारण है कि दुबले-पतले लोग थोड़ी मात्रा में अदरक का सेवन करें मगर बहुत ज्यादा सेवन करने से उनका वजन और भी कम हो सकता है. इसके उलट, जिन लोगों का वजन ज्यादा है, उन्हें अदरक का सेवन अधिक करना चाहिए.

Tags:
COMMENT