सर्दी बढ़ने के साथ ही जोड़ों में तकलीफ तथा आर्थ्राइटिस के मरीजों की समस्याएं भी सामने आने लगी हैं. अकसर सर्दी के दिनों में ऐसे लोगों की स्थिति बहुत खराब हो जाती है. दर्द और तकलीफ बढ़ जाती है. इस मौसम में जोड़ों के टिश्यू सूज जाते हैं, इस से दर्द नियंत्रित करने वाली नसों पर दबाव पड़ता है.

आर्थ्राइटिस के शिकार लोगों के लिए सर्दी में जोड़ों और हड्डियों की बीमारी से निबटने में निम्न उपाय सहायक होंगे.

– सर्दी के मौसम में आर्थ्राइटिस की समस्याओं को दूर रखने के लिए सब से महत्त्वपूर्ण है गरम रहना. ठंडक में हड्डियों को साइलैंट नुकसान होता रहता है. इसलिए दर्द से बचने के लिए कपड़े पहन कर गरम रहना सब से आसान काम है.

–       जोड़ों के दर्द को दूर रखने के लिए विटामिन डी एक आवश्यक तत्त्व है. इस के लिए ज्यादा से ज्यादा धूप में रहना आवश्यक है. धूप में रहने से न सिर्फ शरीर गरम होता है बल्कि विटामिन डी भी मिलता है जिस की आवश्यकता शरीर को होती है. आप चाहें तो विटामिन डी के सप्लीमैंट भी ले सकते हैं.

–  जाड़े में अकसर लोग हाइड्रेटेड रहना भूल जाते हैं और शरीर में पानी का स्तर कम होने से स्वास्थ्य संबंधी कई समस्याएं होती हैं, खास कर, शरीर में दर्द होने लगता है. ढेर सारा पानी पीने से शरीर सक्रिय रहता है और दर्द के प्रति कम संवेदनशील होता है.

–       जाड़े के मौसम में घर में घुसे रहने से मोटापा भी बढ़ता है. घर में ज्यादा रहने के साथ स्वादिष्ठ भोजन ज्यादा खाया जाता है और इस से मोटापा बढ़ता है. वजन ज्यादा होना घुटने और पैरों के लिए भी समस्या पैदा करता है.

– वैसे तो ठंड में व्यायाम और काम करना ही चुनौती है पर यह महत्त्वपूर्ण है कि सक्रिय रहा जाए. इसलिए, थोड़ा व्यायाम आवश्यक है. अगर शरीर स्थिर रहता है तो स्वास्थ्य की समस्याएं बढ़ जाती हैं.

–  आर्थ्राइटिस के शिकार लोगों के लिए गरम पानी से स्नान करना बहुत उपयोगी हो सकता है. गरम पानी में तैरना या स्टीम बाथ शरीर के लिए बहुत लाभप्रद है.

–       फिश औयल में ओमेगा 3 फैटी एसिड होता है. यह हड्डियों की समस्या वाले लोगों के लिए बहुत उपयोगी होता है. इस से सूजन का स्तर कम हो जाता है. हालांकि, यह महत्त्वपूर्ण है कि फिश औयल सप्लीमैंट डाक्टर की सलाह से लिए जाएं.

–  शरीर की अच्छी तरह मालिश कराने से जोड़ों और मांसपेशियों का दर्द कम करने में सहायता मिलती है.        

(लेखक दिल्ली स्थित अपोलो अस्पताल में जौइंट रिप्लेसमैंट ऐंड स्पाइन विभाग में सीनियर कंसल्टैंट हैं)  

COMMENT