इन दिनों इंडियन प्रीमियर लीग यानी आईपीएल सीजन 10 की खुमारी क्रिकेट प्रशंसकों में छाई हुई है. कई लोग देररात तक जाग कर तालियां पीटते हैं तो कई मायूस हो कर सो जाते हैं. क्रिकेट प्रतियोगिताओं की हालत अब धार्मिक आयोजनों सरीखी हो गई है जिन में लोग दूसरों के इशारों और मरजी से अपना वक्त व पैसा बरबाद करते हैं. आईपीएल इस का जीताजागता उदाहरण है. हालांकि पहले के मुकाबले आईपीएल का बुखार दर्शकों में उतरा है पर कारोबारियों को तो खासा मुनाफा दे ही रहा है.

COMMENT