निर्देशक तिग्मांशु धूलिया की यह फिल्म वर्ष 2011 में आई ‘साहिब, बीवी और गैंगस्टर’ का सीक्वल है. निर्देशक ने जहां पहला भाग खत्म किया था, वहीं से इसे आगे बढ़ाया है.
निर्देशक ने फिल्म के किरदारों को संवादों के सहारे संभाले रखा है. दर्शक बंधे रहते हैं. फिल्म की कहानी राजेरजवाड़ों की है. भारत में राजेरजवाड़े तो अब नहीं रहे लेकिन उन में अभी भी ठसक बाकी है, वे खुद को राजा साहब कहलवाना पसंद करते हैं.

COMMENT