एंग्री इंडियन गौडेसेस

फिल्म की कहानी समाज में लड़कियों की हैसियत, उन के अधिकार, उन के संघर्ष को बयां करती है.

प्रतिनिधि. | January 4, 2016

पांच छह लड़कियां जब आपस में बतियाती हैं तो लड़कों या पुरुषों में यह उत्सुकता बनी रहती है कि वे क्या बातें करती हैं. यह फिल्म इसी विषय को दर्शाती है. यह शायद पहली फिल्म होगी जिस में कुछ लड़कियों को साथ रहते दिखाया गया है, वह भी कईकई दिनों तक. वे आपस में एकदूसरे से निजी बातें शेयर करती हैं, मौजमस्ती करती हैं, एकदूसरे को अपना दुखदर्द सुनाती हैं. निर्देशक पान नलिन ने हर लड़की (किरदार) को अपना दुखदर्द सुनाने का पूरा मौका दिया है. उस ने प्रत्येक किरदार की बातों को रोचकता से पेश किया है.

COMMENT

एंग्री इंडियन गौडेसेस

November 18, 2015

हिंदी फिल्मों में पुरुष किरदारों को ले कर तो खूब सारी फिल्में बनी हैं जहां इन के बनतेबिगड़ते रिश्ते दिखाए जाते हैं. लेकिन अलगअलग सोच रखने वाली भारतीय महिलाओं की नजदीकी मित्रता दर्शाती फिल्म ‘एंग्री इंडियन गौडेसेस’ अपनी तरह की अलहदा फिल्म है. हाल ही में टोरंटो इंटरनैशनल फिल्म फैस्टिवल में प्रदर्शित हुई इस फिल्म ने फर्स्ट रनर अप का स्थान हासिल किया. इस फैस्टिवल में ‘एंग्री इंडियन गौडेसेस’ को ‘ग्रोल्स्क पील चौइस’ अवार्ड से नवाजा गया. फिल्म की स्टार कास्ट में सारा जेन, तनिष्ठा चटर्जी, अनुष्का मनचंदा, संध्या मृदुल, अमृत मघेरा, पवलीन गुजराल और राजश्री देशपांडे जैसे बहुमुखी कलाकार शामिल हैं. फिल्म का निर्देशन पैन नलीन ने किया है.

COMMENT
'सरिता' पर आप पढ़ सकते हैं 10 आर्टिकल बिलकुल फ्री , अनलिमिटेड पढ़ने के लिए Subscribe Now