जब डिस्काउंट इतना धांसू हो तो कोई भी इंप्रैस हुए बिना कैसे रह पाएगा, तभी तो अखबार में आए पंपलैट से सेल की बात पढ़ कर सुचिता खुद को रोक नहीं पाई और तुरंत अपनी फ्रैंड्स को फोन मिला कर इस बंपर सेल का फायदा उठाने का प्लान बना डाला.

सुचिता की यह बात सुन कर उस की सभी फ्रैंड्स फूली नहीं समाईं, क्योंकि उन्हें लग रहा था कि इस के कारण वे कम बजट में ज्यादा चीजें जो खरीद पाएंगी. इस बात को ले कर वे इतनी ऐक्साइटिड थीं कि दिन में 12 बजे से पहले ही सेल वाली जगह पहुंच गईं. इतनी हड़बड़ाहट थी कि उन्होंने बिना सोचेसमझे ढेरों चीजें खरीद लीं और यह भी नहीं सोचा कि इस की उन्हें जरूरत है भी या नहीं.

COMMENT