‘तुम ने नीना और नेहा दोनों को  ही बहुत बिगाड़ दिया है. इतनी देर हो गई है लेकिन अभी तक घर नहीं लौटी हैं. जमाना खराब है और ये दोनों इतनी रात तक बाहर रहती हैं. तुम्हारा तो डर ही नहीं है उन्हें,’’ चिंतित स्वर में उर्मिला ने अपने पति से कहा तो वे हंसते हुए बोले, ‘‘तुम नाहक ही फिक्र करती हो, वे हमारी बेटियां नहीं, बेटे हैं.’’

COMMENT