मिसेज कौशिक इस बात से काफी खुश थीं कि उन की बेटी की शादी शहर के सब से बड़े इंजीनियर से हो रही है. वे जोरशोर से शादी की तैयारियां कर रही थीं ताकि शादी के दिन किसी चीज की कमी न हो, खुशियों की रोशनी से घर जगमगा उठे. पर मिसेज कौशिक को कहां पता था कि जिस घर को वे इतने प्यार से सजा रही हैं वह घर बेटी की विदाई के बाद इस कदर सूना हो जाएगा कि अकेलापन उन्हें काटने को दौड़ेगा.

COMMENT