फोन की घंटी बजती है. रिसीवर उठाने पर उधर से एक बच्चे की आवाज आती है, ‘‘हैलो आंटी, क्या आप मुझ से थोड़ी देर के लिए बात कर सकती हैं? मैं घर पर अकेला हूं. मम्मीपापा दोनों औफिस गए हैं. मुझे बहुत डर लग रहा है. मुझे टीवी देखने और खिलौनों से खेलने का भी मन नहीं कर रहा, मैं बाहर भी नहीं जा सकता. प्लीज, मुझ से थोड़ी देर के लिए बात कर लीजिए.’’ फिर आधे घंटे तक वह अनजान बच्चा और अनजान आंटी एकदूसरे से बात करते रहे.

Tags:
COMMENT