रम्या चाय बनाते हुए अपने मन की बात सोच रही थी न जाने कैसे मेरे दिल की बात कोई नहीं समझती है.
'सरिता' पर आप पढ़ सकते हैं 10 आर्टिकल बिलकुल फ्री , अनलिमिटेड पढ़ने के लिए Subscribe Now