एक जमाना था जब महिलाओं के सजनेसंवरने पर कोई पाबंदी नहीं होती थी. अपने सौंदर्य को बेहतरीन दिखाने के लिए वे अपने मन की करती थीं. पर फिर समय के साथ समाज उन से सब कुछ छीनता चला गया. उन की चाहतें चारदीवारी में दफन होने लगीं. मगर अब फिर जमाना एक सीमा तक बदल गया है और महिलाएं अपने मन की करने लगी हैं.

Digital Plans
Print + Digital Plans
COMMENT