आईवीएफ तकनीक के द्वारा अब तक महिलायें बच्चों को जन्म देती थी. अभिनेता तुषार कपूर पहली चर्चित पुरूष हस्ती हैं, जिन्होनें आईवीएफ के जरीये सिंगल फादर बनने का फैसला किया. आईवीएफ तकनीक के जरीये वह पिता बन चुके हैं. उनको बेटा हुआ है, उसका नाम लक्ष्य रखा गया है. मुम्बई के जसलोक अस्पताल एंड रिसर्च सेंटर के आईवीएफ विभाग की डाक्टर फिरूजा पारिख ने कहा ‘ तुषार में पिता बनने का इरादा पक्का था. हर स्टेज पर उनका सहयोग मिलता रहा. इससे साफ दिखता है कि वह अच्छे पिता की तरह अपने बच्चे की परवरिश कर सकेगे.’ जसलोक अस्पताल एंड रिसर्च सेंटर के आईवीएफ विभाग की डाक्टर फिरूजा पारिख ने बताया कि कुछ समय से कई पुरूष और महिलाओं ने सिंगल पैरेंट बनने के लिये आईवीएफ तकनीक का सहारा लेने का फैसला किया है.

अगर इस चलन की शुरूआत को देखे तो साल 2005 में कोलकाता में पहली घटना का पता चलता है. वहां पर अमित बनर्जी नामक युवक इस तरह से पिता बना था. भारत के मुकाबले विदेशों में इस तरह का चलन पुराना है. आम लोग ही नहीं तमाम सेलेब्रेटी तक इसका सहारा लेकर सिंगल पैरेंट बन चुके है. दुनिया के सबसे अच्छे फुटबाल खिलाडी क्रिस्टियानों रोनाल्ड ने 2010 में सिंगल पैरेटस बने. पाप स्टार रिकी मार्टिन दो बच्चों के पिता हैं. भारत में आईवीएफ तकनीक से पिता तो कई शादीशुदा अभिनेता बन चुके हैं. इनमें शाहरूख खान और आमिर खान का नाम सामने आ चुका है. 2013 में शाहरूख और उनकी पत्नी गौरी ने आईवीएफ तकनीक से अपने तीसरे बच्चे अबराम को जन्म दिया. आमिर खान और किरण राव ने बच्चे आजाद को जन्म दिया.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
COMMENT