हौलीवुड में कारपोरेट कंपनियों खासकर स्टूडियो कल्चर काफी लोकप्रिय है. मगर भारत में अब तक ऐसा नहीं हो पाया है. जबकि हौलीवुड की ही तर्ज पर कुछ वर्षों से बौलीवुड में भी कुछ कारपोरेट कंपनियों ने काम करना शुरू किया था. मगर फिल्मी पंडितों की माने तो इन कारपोरेट कंपनियों के आने से बौलीवुड को कोई फायदा होता नजर नहीं आ रहा. बल्कि इन कारपोरेट कंपनियों की वजह से फिल्म की क्रिएटीविटी को जरुर नुकसान हो रहा है. इस बात को कई फिल्मकार खुलकर स्वीकार करने लगे हैं. पर कुछ असफल लोग नित नए प्रयोग करते जा रहे हैं.

हौलीवुड की ही तर्ज पर कुछ वर्ष पहले मशहूर उद्योगपति अनिल अंबानी ने ‘‘रिलायंस इंटरटेनमेंट’ नामक कारपोरेट फिल्म कंपनी की शुरूआत की थी. सूत्रों की माने तो इस कंपनी ने शुरूआत के साथ ही खुले हाथों अनाप शनाप धन बांटना शुरू किया था. सूत्रों की माने तो ‘रिलायंस इंटरटेनमेंट’ ने अमिताभ बच्चन, अक्षय कुमार, अजय देवगन सहित कई दिग्गज कलाकारों को काफी उंची पारिश्रमिक राशि देकर साइन किया था. कुछ फिल्में बनी, जो कि बाक्स आफिस पर बुरी तरह से लड़खड़ा गयीं. तो दूसरी तरफ कुछ फिल्में शुरू ही नहीं हो पायी. सूत्रों के अनुसार लगभग दो तीन साल पहले खबर आयी थी कि ‘रिलायंस इंटरटेनमेंट’ ने अमिताभ बच्चन के साथ फिल्में बनाने का कोई बहुत बड़ा अनुबंध किया है, मगर बाद में इसका कुछ अता पता नहीं चला.

दूसरी तरफ ‘‘ए वेडनेस्ड’’ से चर्चा में आए फिल्म निर्देशक नीरज पांडे ने शीतल भाटिया के साथ मिलकर नई प्रोडक्शन कंपनी ‘‘फ्रायडे फिल्मवर्क्स’’ की शुरूआत की. इस कंपनी के तहत नीरज पांडे ने ‘स्पेशल 26’ और ‘बेबी’ जैसी फिल्मों का निर्माण व निर्देशनन किया. अब इन दोनों फिल्मों की बाक्स आफिस पर क्या गति हुई, यह किसी से छिपा नहीं है. इन दिनों वह क्रिकेटर एम एस धोनी पर ‘‘एम एस धोनीः अनटोल्ड स्टोरी’’ बना रहे हैं.

साथ ही मिलेगी ये खास सौगात

  • 5000 से ज्यादा फैमिली और रोमांस की कहानियां
  • 2000 से ज्यादा क्राइम स्टोरीज
  • 300 से ज्यादा ऑडियो स्टोरीज
  • 50 से ज्यादा नई कहानियां हर महीने
  • एक्सेस ऑफ ई-मैगजीन
  • हेल्थ और ब्यूटी से जुड़ी सभी लेटेस्ट अपडेट
  • समाज और राजनीति से जुड़ी समसामयिक खबरें
Tags:
COMMENT