सरिता विशेष

पर्यटन ताज़गी और स्फूर्ति प्रदान करता है, इसी बात को ध्यान में रखते हुए महाराष्ट्र का पर्यटन विभाग काफी उत्सुकता से काम कर रहा है. मुंबई महाराष्ट्र का एंट्री पॉइंट है और लोग यहां के दर्शन अच्छी तरह नहीं कर पाते. इसलिए मुंबई दर्शन को आकर्षक बनाने के उद्देश्य से मुख्यमंत्री देवेन्द्र फडनवीस, पर्यटन मंत्री जयकुमार जीतेन्द्र रावल, प्रिंसिपल सेक्रेटरी टूरिज्म एंड कल्चर वालसा नायर सिंह, जॉइंट मैनेजिंग डिरेक्टर सतीश सोनी और कई गणमान्य व्यक्तिओं ने ‘स्पेशल मुंबई दर्शन’ का उद्घाटन किया.

इस बारें में सतीश सोनी का कहना है कि मुंबई के लोग पर्यटन पसंद करते हैं, लेकिन अब यह कदम उन्हें और अधिक ताजगी देगा. अभी तक जो मुंबई दर्शन की व्यवस्था थी वह अच्छी नहीं थी. सप्ताह के अंत में ‘रिलैक्स’ होने के लिए उन्हें शहर से बाहर जाना पड़ता था. इस दर्शन में ‘बेस्ट’ की बसों ने भी अपना हाथ मिलाया है, फलस्वरूप अच्छी ‘लक्ज़री एसी’ बसों में लोग पूरी मुंबई को घूम सकेंगे, करीब 60 स्थानों के दर्शन एक दिन में करवाएं जायेंगे, 15 बसें इस सेवा में उपस्थित रहेंगी. ये बसें अभी केवल शनिवार और रविवार को छत्रपति शिवाजी टर्मिनस और दादर से चलेंगी. बाद में लोगों की चाहत के अनुसार बढाई जाएंगी.

इसकी बुकिंग ऑनलाइन होगी. इसमें दो तरह के ‘पास’ रखे गए हैं गोल्ड और सिल्वर पास. गोल्ड पास का मूल्य 725 रुपये और सिल्वर पास का मूल्य 499 रुपये होगी. गोल्ड पास में हर स्थान की एंट्री फीस शामिल होगी.जबकि सिल्वर पास में एंट्री के लिए अलग से टिकट काटने पड़ेंगे. वरिष्ठ नागरिकों को पास खरीदने पर रियायत भी दी जाएगी. इसमें मुंबई के सभी समुद्री तट, नेहरु सेंटर, जू, धोबी घाट, क्राफोर्ड मार्केट, फ़िल्मी सितारों के बंगले आदि सब शामिल होंगे. सुबह 9 बजे से शुरू होकर यह यात्रा शाम के 5.30 बजे तक समाप्त होगी.