सरिता विशेष

जिसे देख कर थम जाए दिल की धड़कनें, रुक जाए कदम, आंखें फटी की फटी रह जाएं, अकेले चलने का हौसला न रहे, चार लोग आगे व चार लोग पीछे भी हों तब भी दिल धकधक करे लेकिन जो एक बार इस पर चलने की हिम्मत जुटा जाए उस का बारबार इस पर चलने को दिल करे.

यहां हम किसी लकड़ी या फिर कंक्रीट से बने किसी छोटे से पुल की बात नहीं कर रहे बल्कि कांच से बने पारदर्शी पुल की बात कर रहे हैं जो किसी नदी पर नहीं बल्कि चट्टान पर बनाया गया है और जिस की समुद्र तल से 4,600 फीट की ऊंचाई है.

अब आप सोच रहे होंगे कि आखिर ऐसा पुल दुनिया में है कहां पर तो आप को बताते हैं कि चीन के हुन्नान क्षेत्र में तियानमेन पर्वत स्थित च्यांग च्याच्य राष्ट्रीय उद्यान में 100 मीटर लंबे और 1.6 मीटर चौड़े शीशे का स्काईवौक बनाया गया है जिस से चीन पूरी दुनिया में छा गया है.

तियानमेन पर्वत पर बनाए इस वौकवे को नाम दिया है ‘कौलिंग ड्रैगन क्लिफ’. इस पुल को पार करते हुए आप को कुल 99 टर्न लेने होंगे जो आप को पहाड़ी हाइवे को पार करने जैसा आनंद देगा.

यह चीन के तियानमेन पर्वत पर बनाया तीसरा ग्लास का स्काईवौक है, जो हाल ही में लोगों के लिए खोला गया है. यहां पहला स्काईवौक नवंबर, 2011 में लोगों के लिए खोला गया था.

दूसरा स्काईवौक जो दुनिया का सब से लंबा और ऊंचा स्काईवौक है चीन के झआंगजियाजी प्रांत में बनाया गया है. इसे बनाने का श्रेय इसराईल के आर्किटैक्ट हैम डौटन को जाता है. यह पुल एक बार में 800 लोगों का भार सहन कर सकता है. यहां आ कर आप बंजी जंपिंग का भी लुत्फ उठा सकते हैं.

इसी के साथ आकर्षक ग्लास पुल तो इस जगह का अट्रैक्शन बढ़ाते ही हैं साथ ही च्यांग च्याच्य राष्ट्रीय उद्यान में दुनिया की सब से लंबी केबल कार राइड का भी लुत्फ उठाया जा सकता है, जो 30 मिनट में 7 किलोमीटर का रोमांचक सफर तय करती है.

‘कोलिंग ड्रैगन क्लिफ’ वौकवे मामूली कांच से नहीं बल्कि कई गुना क्षमता वाले कांच से बनाया गया है जिस पर इंसान के वजन का कोई असर नहीं पड़ता. आप इस पर कितने भी हथौड़े मारे इस का कांच चटकेगा तक नहीं. इस पर खउ़े हो कर जब आप नीचे देखेंगे तब आप को ऐसा लगेगा जैसे आप ऊंचाई पर बिना किसी सपोर्ट के खड़े हुए हैं.

यह पक्की बात है कि इस पल पर भले ही खतरों के खिलाड़ी क्यों न चढ़े एक बार को तो उन के भी होश उड़ जाएंगे.

जब पहली बार यह पुल लोगों के लिए खोला गया और लोग इस का मजा लेने के लिए इस पर चढ़े तो उन की नर्वसनैस उन के चेहरे से साफ झलक रही थी. उन्हें लगा कि अब गए कि अब गए. वहीं कुछ ने डर के बीच भी मनमोहक दृश्यों का, ऊंचाई का जीभर कर लुत्फ उठाया. एकदूसरे के हाथ थामे हुए सैल्फियां क्लिक कीं, ताकि इस पल को कैमरे में समेट कर रख सकें.

किसी ने रेलिंग पकड़पकड़ कर तो किसी ने बैठबैठ कर पुल को पार किया. लेकिन कुल मिला कर यह ग्लास निर्मित पुल प्रकृति को करीब से फील करने का मौका देने के साथसाथ रोमांच भी देता है.

तो जब भी आप को इस जगह पर जाने का मौका मिले तो पुल पर जाना न भूलें.

VIDEO : फंकी लेपर्ड नेल आर्ट

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.