आज हर कोई इंटरनेट से जुड़ रहा है और इसका इस्तेमाल करने वालों में ज्यादातर लोग गूगल क्रोम का प्रयोग करते हैं. अगर आप भी गूगल क्रोम का इस्तेमाल करते हैं, तो आपको थोड़ा सावधान होने की जरूरत है. कई बार ऐसा होता है कि आप क्रोम में अपना काम कर रहे होते हैं और अचानक कोई ऐड आ जाता है. इसके बाद फिर कोई मैसेज आ जाता है. अगर आपके पास ऐसा कोई फालतू ऐड या मैसेज आए तो उसे तुरंत बंद कर दें.

यह एक पौप अप की तरह आता है. इसमें कई बार लुभावने औफर्स के बारे में बताया जाता है और क्लिक करने के लिए कहा जाता है. इस पर कभी क्लिक न करें. एक क्लिक आपके लिए खतरे का निशान साबित हो सकता है इसलिए जितना हो सकें इस तरह के औफर से खुद को दूर रखने की कोशिश करें. अगर आपकी ईमेल पर भी कोई ऐसा मैसेज आता है तो उसे ओपन न करें.

हम आपसे ऐसा इसलिए कह रहे हैं क्योंकि इस तरह के पौप अप से हैकर्स कंप्यूटर पर वायरस भेजकर वेब ब्राउजर को फ्रीज कर देते हैं. इसके बाद डिस्प्ले पर फोन नंबर आने लगेगा, कि इस नंबर पर कौल करके आप अपने कंप्यूटर को सही करा सकते हैं. उसमें कुछ 5-6 मिनट तक का समय होता है कि इतनी देर में कौल कर लीजिए नहीं तो कंप्यूटर क्रैश हो जाएगा. अगर कौल नहीं करेंगे तो आपके कंप्यूटर में सेकेंड्स में हजारों फाइल्स डाउनलोड होने लग जाती हैं. इस तरह से हैकर्स लोगों से पैसा ऐंठ लेते हैं. इस तरह से आपके कंप्यूटर में सेव आपकी बैंक डिटेल्स, क्रेडिट और डेबिट कार्ड की डिटेल्स ईमेल आईडी आदि की पूरी डिटेल्स को हैकर आपके कंप्यूटर से चुरा लेते हैं. इस तरह ये हैकर्स आपके खाते से पैसा भी निकाल सकते हैं.

साइबर सिक्योरिटी कंपनी मालवेयरबायट्स के मुताबिक यह खतरा ऐड और इंफेक्टिड साइट्स से है. इनका फर्स्ट टारगेट गूगल क्रोम यूजर्स होते हैं. हैकर्स पहले मैसेज भेजते हैं कि आपके कंप्यूटर में वायरस है. इसे स्कैन करें. स्कैन पर क्लिक करते ही वायरस कंप्यूटर को अपने कंट्रोल में ले लेता है. कंपनी के मुताबिक पिछले 3 महीने में ऐसे मामले बढ़े हैं. ज्यादातर हैकर्स ब्राउजर को लौक कर देते हैं और उसे अनलौक करने के पैसे मांगते हैं. अगर कभी ऐसी स्थिति पैदा होती है तो टास्क मैनेजर से ब्राउजर को तुरंत बंद कर दें. कंपनी का कहना है ऐसे अटैक से बचने के लिए आप ऐड ब्लौकर का इस्तेमाल कर सकते हैं.