क्या आप अपने आधार नंबर को शेयर नहीं करना चाहते हैं? क्या आपको डर है कि अगर आपने 12 अंकों के आधार नंबर को कहीं शेयर किया, तो आपकी जानकारी चोरी हो सकती है? ऐसे में जो यूजर्स अपने यूनिक बायोमेट्रिक नंबर को कहीं शेयर नहीं करना चाहते हैं उनके लिए UIDAI( भारतीय विशिष्ट पहचान प्राधिकरण) एक नई सुविधा लेकर आई है, जिसका नाम है आधार वर्चुअल आइडी(VID). VID की मदद से आप बैंक ट्रांजिक्शन से लेकर ई-केवाईसी(e- KYC) तक की सेवा में इसका इस्तेमाल कर सकेंगे. वर्चुअल आइडी के बाद आपको आधार कार्ड का नंबर देने की जरूरत नहीं पड़ेगी.

क्या है वर्चुअल आईडी?

VID एक 16 अंकों की संख्या है, जो आपके आधार नंबर से लिंक होता है. ये नंबर अस्थाई होता है और ये बदलता रहता है. VID की मदद से आपको 12 अंकों के आधार नंबर की बजाय 16 नंबर की वर्चुअल आईडी देनी होगी.

technology

क्यों है खास?

क्योंकि ये डिजिटल आइडी है, इसलिए आधार धारक इसे कई बार जनरेट कर सकता हैं. आधार नंबर को साझा करने के बजाय वर्जुअल आइडी का इस्तेमाल ज्यादा सुरक्षित है. मौजूदा समय में वर्जुअल आइडी एक दिन के लिए ही वैद्द है. एक दिन के बाद आपको फिर से इसे जनरेट करना होगा.

इन तरीकों से करें वर्जुअल आइडी जनरेट

  • आधार वर्चुअल आइडी को जनरेट करने के लिए UIDAI की वेबसाइट पर जाएं.
  • यहां आपको Aadhaar Services टैब में Virtual ID (VID) Generator औप्शन दिखेगा, इसपर क्लिक करें. यह प्रक्रिया तभी संभव है जब आपका मोबाइल नंबर UIDAI डाटाबेस पर रजिस्टर हो. ऐसा इसलिए क्योंकि यहां आपको अपने रजिस्टर मोबाइल नंबर से वन टाइम पासवर्ड(OTP) देना होता है.
  • आधार नंबर, ओटीपी और सिक्योरिटी कोड के औप्शन्स को भरने के बाद Submit बटन पर क्लिक कर दें.
  • इसके बाद आपका वर्जुअल आडी जनरेट हो जाएगा.

VIDEO : कार्टून लिटिल टेडी बियर नेल आर्ट

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.