हर किसी को अपने फोन से बेहद ही लगाव होता है. पर जब उसकी बैटरी खत्म हो जाती है और उसे वापस से चार्ज करना होता है तो हम उसमें लापरवाही बरतते हैं. जिसके कारण कुछ समय बाद ही हमारा स्मार्टफोन खराब होने लगता है. ऐसें में स्मार्टफोन की बैटरी साइंस के मुताबिक कब और कैसे चार्ज करनी चाहिए आज हम आपको बताएंगे.

दरअसल लोगों में ऐसी धारणा बनी हुई है कि स्मार्टफोन की बैटरी को तभी चार्ज करना चाहिए जब वह बिलकुल खत्म होने वाली हो. बार बार चार्ज करने से फोन की बैटरी खराब हो जाती है, लेकिन ऐसा नहीं है. अगर आप भी चाहते हैं कि आपके स्मार्टफोन की बैटरी लंबे समय तक ज्यादा बैकअप दे, तो इसके लिए आपको कुछ चीजें बदलनी होंगी.

  • बैटरी यूनिवर्सिटी के मुताबिक फोन की बैटरी फुल चार्ज होने के बाद उसे चार्जिंग पर नहीं लगे रहने देना चाहिए. यह बैटरी की लौन्ग लाइफ के लिए खतरनाक होता है. एक बार फोन फुल चार्ज होने के बाद उसे पावर में लगे रहने देने से यह बैटरी को हाई स्ट्रेस में ले जाता है, जिससे बैटरी बैकअप पर सीधा असर पड़ता है.
  • बैटरी यूनिवर्सिटी के मुताबिक फोन की बैटरी को फुल चार्ज न करें. बैटरी को 90 फीसदी तक चार्ज करें. अगर बैटरी वीक होती है तो फोन की बैटरी को आप कभी भी कहीं भी चार्ज कर सकते हैं. आप अपने फोन की बैटरी को 10% वीक होने के बाद चार्ज करते हैं तो यह उसके लिए अच्छा होगा. इससे बैटरी बैकअप अच्छा रहेगा.
  • स्मार्टफोन को ठंडा रखने की कोशिश करें. स्मार्टफोन पर फालतू के कवर न लगाएं. अगर फोन गर्म होता है तो इसका सीधा असर बैटरी पर पड़ता है.
  • मोबाइल फोन यूएसबी पोर्ट की बजाय बिजली से ज्यादा जल्दी चार्ज होता. सबसे अच्छा ये होता है कि हमेशा कंपनी के चार्जर का ही इस्तेमाल करें, जो सुरक्षित तरीके से सबसे अच्छे परिणाम देता है.
COMMENT