सरिता विशेष

कई बार हमारे मोबाइल फोन में दिक्कत आ जाती है. ऐसे में हम सर्विस सेंटर की ओर दौड़ पड़ते हैं लेकिन ऐसा करते समय हम कुछ गलतियां कर बैठते हैं जो हमें नहीं करनी चाहिए. आज हम इसी मुद्दे पर बात करेंगे कि सर्विस सेंटर पर मोबाइल को देने से पहले किन-किन बातों को ख्याल रखना चाहिए.

औथराइज्ड सर्विस सेंटर

सबसे पहले इस बात को सुनिश्चित करें कि जिस सर्विस सेंटर पर आप फोन देने जा रहे हैं वह औथराइज है या नहीं, कहीं ऐसा तो नहीं है कि उसने औथराइज सेंटर का फर्जी बोर्ड लगा रखा है. कई बार बड़े-बड़े बाजार में लोकल सर्विस सेंटर वाले औथराइज सर्विस सेंटर का बोर्ड लगा देते हैं. तो ऐसे में जिस कंपनी का फोन की उसकी वेबसाइट या टौल फ्री नंबर पर फोन करके आप सर्विस सेंटर की जानकारी ले सकते हैं.

लिस्ट बनाकर ले जाएं

कई बार फोन में कई प्रकार की दिक्कतें आती हैं, लेकिन सर्विस सेंटर पर जाने के बाद हम उन्हें भूल जाते हैं, इसलिए घर से ही लिस्ट बनाकर सर्विस सेंटर्स पर ले जाएं ताकि कोई जरूर बात छूट ना जाए.

डाटा का बैकअप लें

सर्विस सेंटर पर मोबाइल जमा करने से पहले फोन में मौजूद एक-एक फोटो, नंबर और अन्य चीजों का बैकअप लें. बैकअप आप अपने दूसरे फोन, लैपटौप, हार्ड डिस्क, मेमोरी कार्ड या गूगल ड्राइव या फिर मोबाइल कंपनी के क्लाउड पर ले सकते हैं. क्योंकि सर्विस सेंटर्स से आपका निजी डाटा सार्वजनिक हो सकता है, साथ ही डिलीट भी हो सकता है.

सिम कार्ड, मेमोरी कार्ड और बैटरी अपने पास रखें

सर्विस सेंटर पर हम कई बार जल्दबाजी में सिम कार्ड और मेमोरी कार्ड को छोड़ आते हैं जो कि गलत है. जहां तक बैटरी का सवाल है तो आजकल नौन-रिमूवेबल बैटरी आ रही हैं. सिम छोड़ने का मतलब सर्विस सेंटर वालों को तिजोरी की चाबी देना है.

पक्का बिल लें

सर्विस सेंटर वाले कई बार साफ्टवेयर अपडेट कर देते हैं और आपसे पार्ट्स बदलने का पैसा ले लेते हैं. ऐसे में उनसे पार्ट्स बदलने का पक्का बिल मांगें और साथ ही खराबी का कारण पूछें.