त्यौहार को देखते हुए अमेजान इंडिया, फ्लिपकार्ट, पेटीएम और स्नैपडील जैसे कई वेबसाइट्स पर सेल शुरू हुई है. अलग-अलग वेबसाइट्स पर कई तरह के आकर्षक औफर्स मिल रहे हैं और खास बात यह है कि आप और हम ऐसी सेल का इंतजार भी करते हैं, लेकिन सच कुछ और ही है. एक सच यह भी है कि कई वेबसाइट्स पर फोन की कीमत को ज्यादा लिखा जाता है और फिर उस पर छूट देने का दावा किया जाता है, जबकि वास्तव में आपको कोई छूट मिलती ही नहीं है. तो आइए जानते हैं इस फेस्टिव सीजन में औनलाइन खरीदारी करते समय किन-किन बातों का ख्याल रखना चाहिए.

स्पेसिफिकेशन की जानकारी कंपनी की वेबसाइट से पता करें

जब भी औनलाइन फोन खरीदने जाएं तो उस फोन के फीचर्स के बारे में उस फोन की कंपनी की वेबसाइट से जानकारी लें, क्योंकि कई बार ई-कामर्स वेबसाइट पर प्रोडक्ट्स के बारे में गलत जानकारी दी गई होती है.

रिव्यू और रेटिंग

अमेजान और फ्लिपकार्ट से फोन खरीदना ही काफी नहीं है, क्योंकि ये कंपनियां आधिकारिक सेलर नहीं हैं. ऐसे में यह जरूर चेक करें कि आप जिस फोन को खरीदने जा रहे हैं उसे बेचने वाला कौन है और उसके बारे में लोगों ने क्या-क्या रिव्यू दिए हैं. रिव्यू में सच्चाई सामने आ जाती है.

बिना https और लौक वाली साइट पर न करें शापिंग

किसी भी वेबसाइट पर जहां पेमेंट करनी है उस वेबसाइट के यूआरएल में https जरूर देख लीजिए और साथ ही यह भी देखें कि उसमें लौक का चिन्ह है या नहीं. जो भी वेबसाइट सिक्योरिटी के लिहाज से पक्की हैं उसपर https होगा. जब औनलाइन उचक्के किसी बैंक की नकल करके या ऐसे फर्जी वेबसाइट बनाते हैं तो उनमें https कभी नहीं मिलेगा.

कीमत की जानकारी

किसी भी औनलाइन सेल में या ऐसे ही औनलाइन खरीदारी करने से पहले उस सामान की कीमत अलग-अलग वेबसाइट्स जरूर चेक करें, क्योंकि कई औनलाइन वेबसाइट्स असली कीमत से अधिक कीमत के साथ प्रोडक्ट्स को दिखाती हैं और फिर कहती हैं कि 50 फीसदी का डिस्काउंट मिल रहा है.

वारंटी

किसी भी फोन को औनलाइन खरीदने से पहले उसकी वारंटी और एसेसरीज का भी वारंटी चेक कर लें. साथ ही नियम व शर्तों को भी ध्यान से पढ़ें.

औफर

एक ही वेबसाइट एक ही सामान के साथ कई सारे बैंकों से मिलकर कई औफर्स मिलते हैं. ऐसे में खरीदारी करने से पहले देख लें कि यदि आपके बैंक अकाउंट के साथ कोई औफर है तो उसका फायदा उठाएं.

फायदे का सौदा है एक्सचेंज

हमेशा तो नहीं लेकिन कई बार एक्सचेंज औफर फायदे का सौदा होता है. ऐसे में पेमेंट करने से पहले एक्सचेंज भी देख लें, हो सकता है कि आपके पुराने फोन को अच्छी कीमत मिल जाए.

रिफंड और रिटर्न

खरीदारी से पहले रिटर्न और रिफंड के बारे में नियम व शर्तें ध्यान से पढ़ें. कई कंपनियां 10 दिनों के अंदर रिफंड और रिटर्न की बात करती हैं तो कई 30 दिनों की.

कहीं फोन सेकेंज हैंड तो नहीं है

कई ई-कामर्स कंपनियां रिफर्बिश्ड फोन यानि सेकेंड हैंड फोन बेचने लगी हैं. ऐसे में आपको इस बात का ध्यान रखना होगा कि आप जो फोन खरीद रहे हैं वह रिफर्बिश्ड फोन तो नहीं है. वैसे यदि फोन रिफर्बिश्ड होगा तो साइट पर इसकी जानकारी दी जाती है.

COMMENT