सरिता विशेष

देश के आधे से ज्यादा हिस्से में मौनसून ने अपनी दस्तक दे दी है और इस महीने के आखिर तक यह उत्तर भारत में भी पहुंच जाएगा. बारिश होने से जहां लोगों को चिलचिलाती धूप से मुक्ति मिलती है, तो वहीं उन लोगों को सबसे ज्यादा परेशानी का सामना करना पड़ता है जिनके पास गाड़ी होती है.

मौनसून सीजन में गाड़ी का इन्श्योरेंस करवाना जरूरी है, क्योंकि यह आपको कई तरह की मुश्किलों से बचाता है. हम आपको बता रहे हैं कुछ तरीके, जिनका इस्तेमाल करके आप अपनी गाड़ी को इस सीजन में सेफ रख सकते हैं.

एसी को न रखे ऑन

मौनसून सीजन में अगर गाड़ी बीच सड़क पर भरे पानी में फंस जाए तो कार के एसी को तुरंत ऑफ कर दें. ऐसा करने से  गाड़ी में क्लच और ब्रेक के जरिए इंजन तक पानी पहुंच सकता है.

न करें सेंट्रल लॉकिंग का इस्तेमाल

गाड़ी चलाते वक्त बरसात के दौरान कभी भी सेंट्रल लॉकिंग का इस्तेमाल न करें. सेंट्रल लॉकिंग कार की बैटरी से जुड़ी होती है. अगर गाड़ी बंद हो जाएगी तो ये काम नहीं करेगा.

गाड़ी की स्पीड को नहीं करें कम

सड़क पर अगर पानी भरा हो तो गाड़ी के एक्सीलेटर को हल्का दबा कर रखें. अगर सड़क खाली हो तो फिर गाड़ी को पहले गियर में तेजी से निकालने का प्रयास करें. इससे गाड़ी बंद नहीं होगी और आराम से पानी के बीच से निकल जाएगी.

ब्रेक डाउन होने पर न करें गाड़ी को स्टार्ट करने की कोशिश

ब्रेक डाउन होने पर गाड़ी को स्टार्ट करने की कोशिश बिलकुल भी न करें. इससे इंजन के खराब होने का खतरा बना रहता है और ऐसा होने पर इन्श्योरेंस कवर भी काम नहीं आता है.

इन्श्योरेंस की कॉपी को रखे ई-मेल में

हमेशा अपनी गाड़ी के कागजातों की डिजिटल कॉपी अपने ई-मेल में सेव करके रखें. इन्श्योरेंस की कॉपी को ऐसे सेव करने से आप गाड़ी को हुए नुकसान पर क्लेम प्रोसेस को आगे बढ़ा सकते हैं. इससे इन्श्योरेंस अमाउंट लेने में आपको आसानी होगी.