सरिता विशेष

रोज दिन में 3 से 4 कप कौफी का मजा लीजिए और कैंसर को बायबाय कहिए. न्यूयार्क बोस्टन के डाना फाइबर कैंसर इंस्टिट्यूट के रिसर्चरों की टीम ने करीब 100 ऐसे कोलोन टाइप 3 कैंसर से पीडि़त मरीजों पर अध्ययन किया जिन को हाल ही में कीमोथैरेपी या कैंसर सर्जरी से गुजारा गया था. उन्होंने अपने अध्ययन में पाया कि वे मरीज, जो नियमित 3 से 4 कप कौफी ले रहे थे यानी कि 460 मिलीग्राम कैफीन रोज उन के शरीर में जा रही थी, उन को उन टाइप 3 कोलोन कैंसर मरीजों की तुलना में 42 प्रतिशत कम कैंसर के लक्षण देखने को मिले.

रिसर्च में यह बताया गया कि उन मरीजों में कोलोन टाइप 3 कैंसर दोबारा लौटता है जो पूरे दिन में एक बार भी कौफी नहीं पीते थे. जबकि रोजाना हौट कौफी का मग लेने वालों में कैंसर के वापस लौटने की संभावना न के बराबर होती है.