सरिता विशेष

वनडे क्रिकेट में भारत के सबसे भरोसेमंद बल्लेबाजों में से एक रोहित शर्मा का मानना है कि सीमित ओवरों की कप्तानी छोड़ने वाले महेंद्र सिंह धोनी का 50 ओवर के प्रारूप में उनसे पारी शुरू कराने का फैसला उनके लिए करियर बदलने वाला था.

रोहित ने एक इंटरव्यू में कहा, ‘‘मुझे लगता है कि वनडे में पारी शुरू करने के फैसले ने मेरा करियर बदल दिया और यह फैसला महेंद्र सिंह धोनी ने किया था. इसके बाद मैं बेहतर बल्लेबाज बन गया. इससे मुझे अपना खेल बेहतर तरीके से समझने में मदद मिली और मैं स्थिति के अनुसार बेहतर प्रतिक्रिया दे पाया.’’

रोहित ने पहली बार 2013 की शुरूआत में इंग्लैंड के खिलाफ घरेलू सीरीज के दौरान ओपनिंग बल्लेबाज की भूमिका निभाई. उन्होंने इस सीरीज में करीब 80 रन बनाए और फिर चैम्पियन्स ट्रॉफी में ठोस प्रदर्शन किया.

धोनी के पारी की शुरूआत के लिए कहने के संदर्भ में रोहित ने कहा, ‘‘वह (धोनी) मेरे पास आया और कहा कि ‘मैं चाहता हूं कि तुम पारी की शुरूआत करो क्योंकि मुझे भरोसा है कि तुम अच्छा करोगे.’ तुम कट और पुल शॉट दोनों अच्छा खेल सकते हो इसलिए तुम्हारे अंदर ओपनिंग बल्लेबाज के रूप में सफल होने का गुण है.’’

आगे रेदित ने कहा कि ‘‘उन्होंने मुझे कहा कि विफलताओं से हम डरें और आलोचनाओं से निराश नहीं हो. वह बड़ी तस्वीर देख रहे थे क्योंकि उस साल इंग्लैंड में चैम्पियन्स ट्रॉफी होनी थी.’’ रोहित के अनुसार धोनी की खिलाड़ी की क्षमताओं को परखने की क्षमता बेजोड़ है.

रोहित ने कहा, ‘‘इंग्लैंड में चैम्पियन्स ट्रॉफी ने मेरा भरोसा बढ़ाया कि मैं पारी की शुरूआत कर सकता हूं और मैं सुबह इंग्लैंड के हालात में सफेद गेंद से खेलने की चुनौती का सामना करने को तैयार था.’’

VIDEO : फंकी पाइनएप्पल नेल आर्ट

ऐसे ही वीडियो देखने के लिए यहां क्लिक कर SUBSCRIBE करें गृहशोभा का YouTube चैनल.