सरिता विशेष

मुंबई में वर्ल्डकप 2011 के फाइनल में यादगार छक्का जड़कर भारत को खिताब दिलाने के ठीक सात साल बाद महेंद्र सिंह धोनी एक बार फिर सभी के आकर्षण का केंद्र बने, जब इस खिलाड़ी ने सेना के लेफ्टिनेंट कर्नल की वर्दी में पद्म भूषण पुरस्कार स्वीकार किया. धोनी के लिए यह खुशनुमा संयोग रहा कि उन्हें यह प्रतिष्ठित नागरिक सम्मान वर्ल्डकप जीत की 7वीं वर्षगांठ के मौके पर दिया गया. बता दें कि भारत ने 2 अप्रैल 2011 में महेंद्र सिंह धोनी की कप्तानी में 28 साल बाद दूसरी बार वर्ल्ड कप जीता था.

बता दें कि महेंद्र सिंह धोनी को सेना ने लेफ्टिनेंट कर्नल की मानद उपाधि दी हुई है. धोनी के नेतृत्व में भारत के दूसरी बार 50 ओवर का विश्व कप जीतने के बाद भारतीय प्रादेशिक सेना ने एक नवंबर 2011 को उन्हें लेफ्टिनेंट कर्नल के मानद पद से सम्मानित किया था. कपिल देव के बाद धोनी भारत के दूसरे क्रिकेटर हैं, जिन्हें यह सम्मान दिया गया. धोनी ने राष्ट्रपति भवन में राष्ट्रपति राम नाथ कोविंद से यह पुरस्कार हासिल किया.

पद्म भूषण अवौर्ड लेने बाद महेंद्र सिंह धोनी ने अपने औफिशियल इंस्टाग्राम पर इस समारोह की कुछ तस्वीरें शेयर की. इसके साथ ही उन्होंने बताया कि पद्म भूषण सम्मान मिलना एक बहुत बड़ी बात है और सेना की वर्दी में इस पुरस्कार को लेना खुशी को और भी बढ़ा देता है. धोनी इसी के साथ सेना के जवानों का शुक्रिया भी अदा किया.

धोनी ने अपने इंस्टाग्राम पर लिखा- जो भी महिला या पुरुष वर्दी में रहकर देश की सेवा कर रहे हैं और उनके परिवार भी जो कष्ट उठा रहे हैं उसके लिए उनका धन्यवाद. आपकी कुर्बानी की वजह से ही हम लोग खुशी मना पाते हैं और अपने अधिकारों को जी पाते हैं.

ये सम्मान भी पा चुके हैं धोनी

महेंद्र सिंह धोनी ने कई सम्मान भी हासिल किए हैं, जैसे 2008 में आईसीसी वनडे ‘प्लेयर औफ द ईयर अवौर्ड (प्रथम भारतीय खिलाड़ी जिन्हें यह सम्मान मिला), राजीव गांधी खेल रत्न पुरस्कार और 2009  में भारत के चौथे सर्वोच्च नागरिक सम्मान, पद्मश्री पुरस्कार साथ ही 2009 में विसडेन के सर्वप्रथम ड्रीम टेस्ट इलेवन टीम में धोनी को कप्तान का दर्जा दिया जा चुका है.