भारतीय कप्तान विराट कोहली ने दक्षिण अफ्रीका के खिलाफ पहले टेस्ट मैच से अजिंक्य रहाणे को बाहर रखने के फैसले पर सवाल उठाने वाले आलोचकों पर ताना कसते हुए कहा कि जो उनके उप कप्तान को टीम से बाहर चाहते थे अब वे ही उनकी वापसी के लिये होहल्ला मचा रहे हैं.

कोहली ने दूसरे टेस्ट मैच की पूर्व संध्या पर कहा, ‘‘यह दिलचस्प है कि सप्ताह भर में या पांच दिन में चीजें कैसे बदल जाती हैं. पहले टेस्ट मैच से पहले कोई नहीं सोच रहा था कि उसे अंतिम एकादश में होना चाहिए और अचानक लोग अन्य विकल्प को देखने लगे. ’’

कप्तान की टिप्पणी दिलचस्प हैं क्योंकि रहाणे के अंतिम एकादश में चयन को लेकर कभी सवाल नहीं उठा. असल में विदेशों में उनके शानदार रिकौर्ड को देखते हुए उन्हें टीम में नहीं चुना जाना हैरानी भरा था. भारत ने यह मैच 72 रन से गंवाया. कोहली ने व्यंग्यात्मक लहजे में कहा, ‘‘हमारे लिए एक टीम के तौर पर सही संतुलन खोजना है. अगर खिलाड़ी इस तरह के संतुलन में फिट बैठता है तो उसे टीम में रखते हैं. बाहर से लोग क्या बोल रहे हैं, क्या चर्चाएं हैं हम निश्चित तौर पर उस पर गौर नहीं करते.’’

sports

उन्होंने कहा, ‘‘वह (रहाणे) बेहतरीन खिलाड़ी है. उसने दक्षिण अफ्रीका विशेषकर विदेशों में अच्छा प्रदर्शन किया है. वह संभवत: विदेशों में हमारा लगातार अच्छा प्रदर्शन करने वाला खिलाड़ी रहा है.’’ कोहली ने फिर से दोहराया की रोहित शर्मा को उनकी वर्तमान फार्म के कारण टीम में लिया गया.

उन्होंने कहा, ‘‘मैं रोहित शर्मा को उन पर तरजीह देने के कारणों के बारे में पहले ही कह चुका हूं. मैं यह नहीं कह रहा हूं कि अंजिक्य इस मैच में नहीं खेलेगा. अभी सभी विकल्प खुले हैं और हम अभ्यास के बाद फैसला करेंगे.’’

कप्तान ने संकेत दिये कि अंतिम एकादश में बदलाव किये जा सकते हैं. उन्होंने कहा, ‘‘जहां तक सलामी जोड़ी की बात है तो हम अभ्यास सत्र के बाद इस पर फैसला करेंगे. हम कुछ अलग कर सकते हैं लेकिन अभी वास्तव में घबराने की जरूरत नहीं है.’’ कोहली ने कहा कि पिच में पर्याप्त तेजी और उछाल हो सकती है लेकिन यह न्यूलैंड्स के विकेट की तरह ज्यादा हरा नहीं है.

उन्होंने कहा, ‘‘यह जीवंत विकेट लग रहा है. हमें ऐसी ही उम्मीद थी. यह पिच फिर से अपनी सर्वश्रेष्ठ क्रिकेट खेलने के लिये चुनौती देगी और हम इसके लिये तैयार हैं.’’ कोहली ने बल्लेबाजों से कहा कि वह उछाल से हैरान न हों. कप्तान ने कहा, ‘‘हमें यहां की उछाल से हैरान नहीं होना चाहिए. हमें उछाल में अचानक बदलाव पर अपना धैर्य बनाये रखना होगा.’’

Tags:
COMMENT