सरिता विशेष

क्रिकेट के मैदान पर लगातार अपने प्रदर्शन से सुर्खियों में रहने वाले मास्टर ब्लास्टर सचिन तेंदुलकर के बेटे अर्जुन तेंदुलकर ने एक बार फिर अपने शानदार प्रदर्शन से लोगों का दिल जीत लिया है. हाल ही में कूच बिहार ट्रौफी में पांच विकेट लेने वाले अर्जुन ने अब औस्ट्रेलिया में अपना परचम लहराया है.

18 साल के अर्जुन ने औस्ट्रलिया में स्प्रिट औफ ग्लोबल चैलैंज में हिस्सा लेते हुए सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर बल्ले और गेंद से शानदार प्रदर्शन किया. हाल ही में अर्जुन ने स्पिरिट औफ ग्लोबल चैलेंज में हिस्सा लिया. सिडनी क्रिकेट ग्राउंड पर हुए इस मैच में अर्जुन टीम इंडिया के क्रिकेटर्स क्लब की ओर से खेल रहे थे. टी20 फौर्मेट में खेले गए इस मैच में हांगकांग के खिलाफ अर्जुन ने 27 गेंद पर 48 रन बनाए और जब बारी गेंदबाजी की आई तो उन्होंने चार अहम विकेट भी झटके.

अपने इस शानदार प्रदर्शन के बाद पहली बार अर्जुन ने अपने आदर्श खिलाड़ी के बारे में बताया. एक हिन्दी न्यूज चैनल से बात करते हुए अर्जुन ने कहा कि उन्हें बचपन से ही तेज गेंदबाजी करना पसंद है. अर्जुन से उनके रोल मौडल के बारे में पूछे जाने पर उन्होंने मिचेल स्टार्क और बेन स्टोक्स का नाम लिया.

बाएं हाथ के तेज गेंदबाज अर्जुन ने आगे कहा कि मुझे लगा कि भारत में तेज गेंदबाज ज्यादा नहीं है. बड़े होने के साथ साथ में मजबूत भी हो रहा हूं मैं भारत के लिए एक तेज गेंदबाज के रूप में पहचान बनाना चाहता हूं.’

जब अर्जुन से पूछा गया कि क्या उनपर मैदान पर उतरते समय किसी तरह का दबाव रहता है? इसके जवाब में अर्जुन ने कहा, ‘मैं किसी प्रकार का दबाव नहीं लेता. बात जब गेंदबाजी की आती है तो हर गेंद में अपना सब कुछ झोंक देता हूं. वहीं, जब बल्लेबाजी करता हूं तो इस बात पर ध्यान देता हूं कि किस बौल पर शौट खेलने हैं और किस पर संभल कर रहना है.’

आप इस लेख को सोशल मीडिया पर भी शेयर कर सकते हैं