क्रिकेट को जेंटलमैन गेम कहा जाता है, लेकिन क्रिकेट की छवि इन दिनों काफी खराब होती जा रही है. पहले जहां यह मैच के दौरान दर्शकों के उत्पात की वजह से खबरों में रहता था, वहीं अब तो खिलाड़ियों के कारनामों की वजह से सुर्खियों में रहता है. चाहे मैच फिक्सिंग हो या मैदान पर खिलाड़ियों के बीच कहा सुनी. इसके साथ ही इन दिनों मैदान पर स्लेजिंग का चलन भी काफी बढ़ गया है, लेकिन क्रिकेट के लिए सबसे चिंता की बात यह है कि अब यह छोटी-मोटी कहासुनी, मारपीट तक पहुंचने लगी है. खिलाड़ियों की इन हरकतों की वजह से न केवल क्रिकेटर बल्कि, क्रिकेट का खेल भी शर्मसार हो रहा है. अब ऐसा ही एक नया मामला भारतीय क्रिकेटर का सामने आया है.

आमतौर पर क्रिकेट के मैदान पर शांत रहने वाले भारतीय खिलाड़ी प्रज्ञान ओझा एक एक वीडियो इन दिनों वायरल हो रहा है. हालांकि, यह वीडियो कब का और किस मैच का है इस बारे में कोई जानकारी नहीं है, लेकिन इस वीडियो में ओझा जिस तरह की हरकत कर रहे हैं वह वाकई शर्मसार करने वाली है.

इन दिनों प्रज्ञान ओझा का एक वीडियो वायरल हो रहा है, जिसमें ओझा की प्रतिक्रिया इसके वायरल होने की वजह बनी. अपनी गेंद पर छक्का लगता देख कोई भी गेंदबाज खुद को सहज नहीं पा सकता. 31 साल के ओझा के साथ भी यह हुआ. लेकिन वह खुद पर काबू नहीं पा सके और स्टंप्स को लात मारकर बिखेर दिए.

वीडियो में साफ देखा जा सकता है कि ओझा की फुलटौस गेंद पर बल्लेबाज ने छक्का जड़ा है. इसके बाद नौन स्ट्राइकिंग एंड मौजूद बल्लेबाज आगे बढ़ते हुए उस बल्लेबाज को गले लगा लेता है. यहां तक तो सब ठीक था, लेकिन तभी गुस्साए ओझा ने पैर मारकर स्टंप्स बिखेर दिए. यह वाकई शर्मसार करने वाली घटना है.

बता दें कि शुरुआती दौर में हैदराबाद की ओर से खेल प्रज्ञान ओझा बंगाल की रणजी टीम मे चले गए थे. लेकिन मौजूदा सीजन में वह दोबारा हैदराबाद टीम में लौट आए. मौजूदा रणजी सत्र में हैदराबाद की ओर से खेले. टीम इंडिया की ओर से 24 टेस्ट मैचों में ओझा ने 113 विकेट लेने में कामयाब रहे.

प्रज्ञान 18 वनडे मैचों में 4.47 की इकोनौमी के साथ 21 विकेट झटक चुके हैं. 24 टेस्ट मुकाबलों में ओझा ने 7 बार पारी में 5 विकेट चटकाने के साथ कुल 113 विकेट झटके हैं. प्रज्ञान ओझा ने 6 अंतरराष्ट्रीय -टी20 मैचों में 10, जबकि 92 आईपीएल में 89 खिलाड़ियों को आउट किया है.

प्रज्ञान ने 28 जून 2008 को बांग्लादेश के खिलाफ अपना पहला अंतरराष्ट्रीय मुकाबला खेला था. इसके बाद 2009 में उन्हें टी20 और फिर टेस्ट में मौका दिया गया. ओझा ने अपना आखिरी अंतर्राष्ट्रीय मैच वेस्टइंडीज के खिलाफ 2013 को खेला था.

Tags: