सरिता विशेष

पंड्या को कई बार कपिल के बाद भारत का सर्वश्रेष्ठ आलराउंडर बताया गया है. कपिल ने सेंचुरियन में दूसरे टेस्ट में पंड्या के बल्लेबाजी प्रदर्शन की आलोचना की. टीम इंडिया के पूर्व कप्तान कपिल देव का मानना है कि पंड्या अगर सेंचुरियन टेस्ट में की गई बेवकूफी दोहराएंगे तो उनसे मेरी तुलना नहीं की जानी चाहिए.

कपिल देव ने कहा कि ‘अगर पंड्या इस तरह की बेवकूफाना गलतियां करना जारी रखते हैं, तो वह मेरे साथ तुलना का हकदार नहीं है.’कपिल दूसरी पारी में पंड्या के आउट होने के तरीके से खुश नहीं थे. हार्दिक की बल्लेबाजी देखने के बाद कपिल देव ने कहा, ‘उनकी तुलना मेरे साथ की जाती है, लेकिन अगर मैदान में वो इस तरह की गलती बार-बार करते रहेंगे, तो उनकी तुलना मेरे साथ करना बंद कर दें.’ उनका कहना है कि हार्दिक पांड्या एक अच्छे खिलाड़ी हैं, लेकिन उन्हें थोड़ी बुद्धि का इस्तेमाल अपने खेल में करना होगा ताकि वह बार बार इस तरह की छोटी गलतियों को न दोहराए.

दरअसल कपिल देव सेंचुरियन टेस्ट की दूसरी पारी में जिस तरह पांड्या आउट हुए थे, उसे लेकर नाराज हैं. पांड्या ने उस वक्त अपना विकेट गंवाया, जब आधी टीम पवेलियन लौट चुकी थी और हार का खतरा मंडरा रहा था.

दक्षिण अफ्रीका से जीत के लिए मिले 287 रनों का पीछा करने उतरी टीम इंडिया उस वक्त मुश्किल में थी. जब पांड्या चौथी पारी में बल्लेबाजी करने आए थे, तब टीम इंडिया के पांच विकेट सिर्फ 65 रन पर गिर चुके थे.

ऐसे में उनसे मैच की नजाकत को देखते हुए बल्लेबाजी करने की उम्मीद थी. मगर पांड्या केवल 6 रन बनाकर आउट हो गए, वो भी लुंगी नजीदी की ऐसी गेंद को जो औफ स्टंप से काफी बाहर जा रही थी और जिसे आसानी से छोड़ा जा सकता था. मगर पांड्या ने यहां गलती कि और बाहर जाती गेंद को छेड़ने के चक्कर में विकेटकीपर क्विंटक डी कौक को कैच थमा बैठे और टीम के लिए मैच गंवा दिया.

पहली पारी में रन आउट हुए थे पांड्या

गलती केवल भारतीय टीम की दूसरी पारी में नहीं हुई थी, बल्कि पहली पारी में भी क्रीज के अंदर पहुंचने के बाद भी पांड्या ने अपना बल्ला नहीं रखा था और वो रन आउट हो गए थे. इस तरह से आउट होने को लेकर उनकी काफी आलोचना भी हुई थी, मगर दूसरी पारी में फिर पांड्या लापरवाही भरा शौट खेलकर आउट हुए.

कपिल देव ने कहा कि, ‘पांड्या में काफी टैलेंट है, जो पहले टेस्ट में उन्होंने दिखाया भी, मगर पांड्या को अपनी मानसिकता पर काम करना होगा.

कपिल देव के अलावा पूर्व चीफ सिलेक्टर संदीप पाटिल ने भी कहा कि अभी पंड्या की तुलना कपिल देव के साथ करना ठीक नहीं, क्योंकि अभी पंड्या के करियर की शुरुआत है. मैं कपिल के साथ काफी क्रिकेट खेला, सचमुच इन दोनों में कोई तुलना नहीं है.

कपिल शानदार प्रदर्शन करते हुए 15 साल भारत के लिए खेले हैं, जबकि पंड्या ने सिर्फ अपना पांचवां टेस्ट खेला है. अभी पंड्या को लंबा रास्ता तय करना है.’

वहीं, भारतीय कप्‍तान विराट कोहली ने हार के लिए बल्‍लेबाजी को जिम्‍मेदार ठहराया. उन्‍होंने मैच खत्‍म होने के बाद प्रेस कौन्‍फ्रेंस में कहा, ”हम अच्छी साझेदारियां करने और बढ़त लेने में असफल रहे. हमने अपने आप को मायूस किया. गेंदबाजों ने अपना काम किया, लेकिन बल्लेबाजों ने टीम को निराश किया. हमने कोशिश की, लेकिन हमारा प्रयास काफी नहीं था, खासकर फील्डिंग में. इसलिए दक्षिण अफ्रीका को जीत मिली.”