सरिता विशेष

टीम इंडिया के लिए पिछले दिनों में जिस तरह से हार्दिक पांड्या ने प्रदर्शन किया है, उनकी तुलना उसके बाद कपिल देव से होने लगी है. इससे पहले भी टीम इंडिया में पिछले तीन चार दशकों में अनेक ऐसे खिलाड़ी आए जिन्होंने कपिल को रिप्लेस करने की कोशिश की. रोबिन सिंह, इरफान पठान और स्टुअर्ट बिन्नी. इनके अलावा भी तमाम ऐसे नाम हैं जिनके बारे में कहा गया कि टीम इंडिया को नया ‘कपिल देव’ मिल गया है. हालांकि बाद में ये खिलाड़ी बहुल लंबे समय तक टीम इंडिया में रह नहीं पाए.

इस बारे में जब खुद कपिल देव से पूछा गया तो भारत के इसे सर्वश्रेष्ठ आलराउंडर ने यहां कहा कि हार्दिक पंड्या के पास योग्यता है, लेकिन यह समय ही बताएगा कि वह वास्तविक आलराउंडर बनेगा या नहीं. कपिल से पूछा गया कि क्या पंड्या भारत के लिये वास्तविक आलराउंडर बन सकता है, उन्होंने कहा, ‘समय बताएगा. थोड़ा इंतजार कीजिए. उसके पास योग्यता है.’ उन्होंने कहा, ‘टीम हमेशा उचित संयोजन की तलाश में रहती है. जब आपके पास एक आलराउंडर होता है तो कप्तान के लिये अच्छा रहता है. उसके पास विकल्प होते हैं.’

SPORTS

90 के दशक से टीम इंडिया इस बात के लिए लगातार संघर्ष करती रही कि टीम में कोई ऐसा खिलाड़ी हो जो कपिल की तरह बेहतरीन औल राउंडर हो और टीम में संतुलन बना सके, लेकिन हार्दिक पांड्या के टीम इंडिया में आने के बाद से लगातार ऐसा कहा जा रहा है कि वह कपिल देव की जगह को भर सकते हैं. हालांकि, उनके अब तक के प्रदर्शन को देखकर कुछ भी कह पाना मुश्किल है, लेकिन फिलहाल उन्होंने कपिल देव की बराबरी एक रिकौर्ड में तो कर ली है.

क्या टीम इंडिया को सचमुच कपिल देवमिल गए हैं

दिसंबर 2017 में श्रीलंका के खिलाफ वाई राजशेखर रेड्डी एसीए-वीसीए स्टेडियम में खेले गए एक मुकाबले में हार्दिक पांड्या ने 31 साल बाद उसी कारनामे को दोहराया है, जिसे 1986 में कपिल देव ने करके दिखाया था. जुलाई 2017 में श्रीलंका के खिलाफ डेब्‍यू करने के बाद अपने शानदार प्रदर्शन से पांड्या ने टीम में अपनी जगह पक्‍की कर ली है. श्रीलंका के खिलाफ रविवार को पांड्या ने 2017 में अपना 30वां विकेट हासिल किया.

SPORTS

इस विकेट को हासिल करने के साथ ही पांड्या, कपिल देव के बाद एक साल में 500 रन और 30 से ज्‍यादा विकेट लेने वाले दूसरे खिलाड़ी बन गए हैं. कपिल देव ने 1986 में 27 मैच खेलकर 517 रन बनाए थे. इसके अलावा उन्‍होंने 32 विकेट्स भी लिए थे. इस दौरान कपिल का सर्वश्रेष्‍ठ प्रदर्शन 30 रन देकर 4 विकेट था.