वर्ष 2008 में शुरू हुए आईपीएल में ऐसा पहली बार हो रहा है जब उसके उद्घाटन समारोह में 6 टीमों के कप्तान भाग नहीं ले पाएंगे. यह उद्घाटन समारोह 7 अप्रैल को मुंबई के वानखेड़े स्टेडियम में होगा, जिसमें 8 टीमों में से सिर्फ दो ही कप्तान शामिल हो पाएंगे. इसका बड़ा कारण आईपीएल 11 के उद्घाटन समारोह की तारिख है. बता दें कि उद्घाटन समारोह के दिन ही पहला मैच और उसके अगले ही दिन दो मैच होने की वजह से इस बार 6 कप्तानों को इस कार्यक्रम में बीसीसीआई ने न बुलाने का फैसला किया है.

7 अप्रैल को टूर्नामेंट का पहला मैच चेन्नई सुपरकिंग्स और मुंबई इंडियंस के बीच होगा. 8 अप्रैल को दिल्ली डेयरडेविल्स का सामना किंग्स इलेवन पंजाब मोहाली (चार बजे से) में और बेंगलोर रौयल चैंलेजर्स की भिड़ंत कोलकाता नाइटराइडर्स (आठ बजे से) कोलकाता में होगी. ऐसे में इस उद्घाटन समारोह में विराट कोहली (आरसीबी), स्टीव स्मिथ (राजस्थान रौयल्स), गौतम गंभीर (दिल्ली डेयरडेविल्स), रविचंद्रन अश्विन (किंग्स इलेवन पंजाब), दिनेश कार्तिक (कोलकाता नाइट राइडर्स) और डेविड वार्नर (सन राइजर्स हैदराबाद) मौजूद नहीं होंगे. हालांकि महेंद्र सिंह धोनी (चेन्नै सुपर किंग्स) और रोहित शर्मा (मुंबई इंडियंस) इस अवसर पर मौजूद होंगे. इन दोनों टीमों के बीच इसी मैदान पर बाद में आईपीएल का पहला मुकाबला खेला जाएगा.

बीसीसीआई के एक सूत्र ने बताया, ‘हमने इस बार उद्धाटन समारोह को एक दिन पहले नहीं करवाया. 8 अप्रैल को चार टीमों के मुकाबले हैं. मोहाली में होने वाला मैच पहले दिल्ली में खेला जाना था लेकिन बाद में शेड्यूल बदला गया. यह मैच दोपहर चार बजे खेला जाएगा. ऐसे में हम उन टीमों के कप्तानों से यह उम्मीद नहीं कर सकते कि वे फ्लाइट से दिल्ली पहुंचें और फिर रात को या फिर मैच की सुबह सड़क मार्ग से मोहाली पहुंचें.