सरिता विशेष

भारत ने दूसरे टी-20 मैच में आयरलैंड पर 143 रन की बड़ी जीत दर्ज की. ये टी-20 क्रिकेट में भारत की सबसे बड़ी विजय रही. इसी के साथ भारत ने दो मैचों की सीरीज़ में मेजबान टीम का क्लीन स्वीप करते हुए श्रृंख्ला भी अपने नाम कर ली. लेकिन इस जीत ने भारतीय कप्तान विराट कोहली की मुश्किलें बढ़ा दी हैं.

सीरीज जीतने के बाद कप्तान कोहली ने कहा कि  ‘अब तो मेरा सिरदर्द शुरू हो गया है. इसकी वजह है कि किस खिलाड़ी को टीम में शामिल करूं और किसे नहीं. सभी ने शानदार बल्लेबाजी की हैं, वैसे यह अच्छी समस्या है. यह भारतीय क्रिकेट का अच्छा दौर है, जहां युवा खिलाड़ी मिले हुए मौके को दोनों हाथों से भुना रहे हैं.’

उन्होंने कहा, टीम में सभी खिलाड़ी समान रूप से मेहनत कर रहे हैं और कोई भी खिलाड़ी अपनी जगह को पक्की मानकर नहीं चलता है. सभी खिलाड़ी जिम्मेदारी उठा रहे है जो सबसे अच्छी बात है. मुझे किसी भी खिलाड़ी को प्रेरित नहीं करना होता है, सभी अपने आप बेहतर प्रदर्शन के लिए कटिबद्ध हैं.

sports

इसी के साथ कोहली ने कहा, हमारी बेंच स्ट्रैंथ ने दिखा दिया कि वो कितनी मजबूत है, विपक्षी टीम हमारे लिए मायने नहीं रखती है और इंग्लैंड के साथ भी ऐसा ही होगा. वहां पिचें अच्छी होगी और हमारे बल्लेबाज उनके गेंदबाजों का सामना करने के लिए पूरी तरह तैयार रहेंगे. हमारे पास दो कलाई के स्पिनर हैं जो लाभदायक साबित होगा. यदि हमने क्षमता के अनुरुप प्रदर्शन किया तो यह सीरीज बहुत रोमांचक रहेगी. इंग्लैंड बहुत मजबूत टीम है, लेकिन हमारे पास उन्हें चुनौती देने की क्षमता है.

दूसरे टी20 मैच में भारत ने केएल राहुल को मौका दिया और राहुल ने शानदार पारी खेलते हुए 36 गेंदों में 70 रन ठोक दिए. रैना ने 69 रनों का योगदान दिया तो अंत में हार्दिक पांड्‍या ने 9 गेंदों में तूफानी अंदाज में 32 रन बनाए. वहीं गेदबाज़ी में भी टीम इंडिया ने बदलाव किया और इस मैच में उमेश यादव को  मौका दिया. उन्होंने भी बेहतरीन गेंदबाज़ी करते मेजबान टीम को दो शुरुआती झटके दिए. उमेश ने 2 ओवर में 19 रन देकर 2 विकेट लिए.