भारत और अफगानिस्तान के बीच पहला टेस्ट मैच शुरु हो गया है. यह अफगानिस्तान का पहला टेस्ट मैच है और इस ऐतिहासिक टेस्ट के साथ कई रोचक बातें जुड़ी हैं. हाल ही में अफगानिस्तान को टेस्ट मैच का दर्जा हासिल होने के बाद भारत अफगानिस्तान क्रिकेट को बढ़ावा देने के लिए काफी सक्रिय है और बीसीसीआई ने फैसला किया है कि अगले कुछ समय तक भारत ही अफगानिस्तान के लिए मेजबान देश होगा. इसका मतलब यह है कि अफगानिस्तान के लिए होने वाले मैच भारत में ही होंगे. इस टेस्ट मैच के साथ कई रोचक बातें जुड़ी है.

अफगानिस्तान ऐसा देश है जिसने रिफ्यूजी कैम्प में क्रिकेट खेलना शुरु किया था. अफगानिस्तान लंबे समय से आतंकवाद से पीड़ित देश रहा है. 2001 से उसने एफिलिएट देश के तौर पर क्रिकेट की शुरुआत की थी और भारत के साथ ऐतिहासिक टेस्ट खेलकर टेस्ट खेलने वाल 12वां देश बन गया है. अफगानिस्तान भारत के साथ अपना पहला टेस्ट खेलने वाले देशों में पाकिस्तान (1952), जिम्बाब्वे (1992), बांग्लादेश (2000) भी हैं. केवल श्रीलंका और आयरलैंड ऐसे देश हैं जो भारत के टेस्ट खेलने के बाद भारत के खिलाफ अपना पहला टेस्ट नहीं खेले हैं.

sports

यह पहली बार है कि भारत में कोई टेस्ट मैच जून के महीने में हो रहा है. इससे पहले अब तक भारत में केवल या तो मई के महीने में या फिर जुलाई के महीने में टेस्ट मैच हुए हैं. उल्लेखनीय है कि भारत में जून के महीने में ही मानसून आता है. खासतौर पर दक्षिण भारत में जून के पहले ही हफ्ते में मानसून दस्तक दे देता है. ऐसे में आमऔर पर जून के महीने में टेस्ट मैच नहीं होते. ऐसे में लोगों को हैरानी जरूर हुई जब बेंगलुरू में ही 14 जून को टेस्ट मैच का कार्यक्रम तय किया गया. फिलहाल पहले दिन का खेल जारी है और अभी बारिश के कोई आसार नहीं है.

इसके साथ ही कई और रोचक बातें हैं जो इस टेस्ट  मैच से जुड़ी हैं जिसमें से एक है भारत के नियमित कप्तान विराट कोहली का न होना. विराट हालांकि इस समय अपनी गर्दन की चोट से उबर रहे हैं, वे शुरु से ही इस टेस्ट से बाहर थे क्योंकि उनका पहले से ही जुलाई में होने वाली इंग्लैंड के खिलाफ वनडे और उसके बाद टेस्ट सीरीज की तैयारी के लिए काउंटी क्रिकेट खेलने की योजना बन चुकी थी.

दिनेश कार्तिक का खास रिकौर्ड

इस टेस्ट मैच में लंबे समय बाद वापसी कर रहे भारत के विकेटकीपर दिनेश कार्तिक ने एक खास रिकौर्ड अपने नाम कर लिया. कार्तिक भारत के ऐसे खिलाड़ी बन गए हैं जिन्होंने सबसे लंबे अंतराल के बाद (टेस्ट मैचों की संख्या के लिहाज से) टेस्ट क्रिकेट टीम में वापसी की है. कार्तिक ने भारत के 87 मैचों के बाद टेस्ट टीम में वापसी की है. उनके बाद पार्थिव पटेल (83 टेस्ट) का नंबर आता है. वहीं अंतरराष्ट्रीय खिलाड़ियों में दिनेश कार्तिक का नंबर सातवां नंबर है. सबसे ज्यादा इंग्लैंड के जी बैटी 142 टेस्ट मैचों के बाद वापसी की थी. उन्होंने 2005 के बाद 2016 में वापसी की थी. वहीं दिनेश कार्तिक ने 2010 के बाद 2018 में अपनी टीम में वापसी की है.

मुजीब उर रहमान का अनोखा रिकौर्ड

अफगानिस्तान के मुजीब उर रहमान 21वीं सदी में पैदा होने वाले पहले टेस्ट क्रिकेटर बन गए हैं. मुजीब 2009 के बाद पहले ऐसे क्रिकेटर हैं जिन्होंने 17 साल या उससे कम उम्र में अपने टेस्ट करियर की शुरुआत की हो. इससे पहले 2009 में पाकिस्तान के मोहम्मद आमिर ने  टेस्ट क्रिकेट में पहला टेस्ट 17 साल से कम उम्र में शुरु किया था. इसके साथ ही मुजीब छठे ऐसे खिलाड़ी हैं जिन्होंने अपना फर्स्ट क्लास  करियर टेस्ट मैच से शुरु किया है.  उनसे पहले न्यूजीलैंड के ग्राहम विवियन, जिम्बाब्वे के उजेश रणछोड़, बांग्लादेश के मशराफे मुर्तजा, पाकिस्तान के यासिर अली और बांग्लादेश के ही नजमूल होसेन ऐसी उपलब्धि हासिल कर चुके हैं.

Tags:
COMMENT