भारत-श्रीलंका के बीच टी20 सीरीज का पहला मैच कटक के बाराबाती स्टेडियम में बुधवार (20 दिसंबर) को खेला जाएगा. भारत मेहमान श्रीलंका के खिलाफ इस टूर्नामेंट में भले ही टेस्ट और वनडे सीरीज अपने नाम कर चुका हो मगर कटक में भारत का रिकौर्ड टी20 फौर्मेट में बेहद खराब रहा है. टीम इंडिया ने हालांकि इस मैदान पर महज 1 टी20 मुकाबला खेला हो लेकिन उस मैच में उसकी यादें बेहद कड़वी रही हैं.

5 अक्टूबर 2015 को साउथ अफ्रीका के विरुद्ध खेले गए उस मैच में टीम इंडिया महज 92 रनों पर औलआउट हो गई थी. पहले बल्लेबाजी करते भारत को शिखर धवन (11) के रूप में महज 28 रन पर पहला झटका लग चुका था. वहीं सलामी बल्लेबाज रोहित शर्मा (22) और विराट कोहली (1) भी कुछ खास नहीं कर सके. हालांकि सुरेश रैना (22) ने टीम को काफी हद तक संभालने की कोशिश की मगर दूसरे छोर पर कोई अन्य बल्लेबाज टिक नहीं पा रहा था.

दर्शकों को उम्मीद थी की धोनी मैदान पर आकर टीम को संभालेंगे लेकिन माही भी महज 5 रन बनाकर चलते बने. आलम ये रहा कि 17.2 ओवर में ही टीम सिर्फ 92 रन पर सिमट गई. साउथ अफ्रीका की ओर से एल्बी मोर्कल ने सबसे अधिक 3 विकेट झटके वहीं इमरान ताहिर, क्रिस मौरिस 2-2 और कगीसो रबाडा 1 शिकार करने में कामयाब रहे.

आसान से टारगेट का पीछा करने उतरी दक्षिण अफ्रीका की शुरुआत भी कुछ खास नहीं रही और उसे हाशिम अमला के रूप में जल्द पहला झटका लग गया लेकिन लक्ष्य इतना कम था कि साउथ अफ्रीका पर इससे कोई मानसिक दबाव नहीं बना और उसने जेपी ड्यूमिनी (30) के दम महज 17.1 ओवर में ही 4 विकेट के नुकसान पर जीत दर्ज कर ली.

भारत की ओर से रविचंद्रन अश्विन ने 24 रन देकर 3 विकेट झटके, जबकि उनके अलावा अक्षर पटेल ने 1 विकेट झटका मगर कोई अन्य गेंदबाज साथ नहीं निभा सका. ये देख दर्शकों का गुस्सा सातवें आसमान पर पहुंच चुका था. हालात ये रहे कि भारत के इस घटिया प्रदर्शन से भड़के दर्शकों ने मैदान पर पानी की बोतलें फेंकनी शुरू कर दीं. सुरक्षाकर्मियों ने फैंस को किसी तरह शांत करवाया, जिसके बाद मैच जैसे-तैसे खत्म करवाया गया लेकिन ये मुकाबला टीम इंडिया के लिए किसी कड़वी याद से कम नहीं रहा.

Tags:
COMMENT