भारतीय टेस्ट टीम के कार्यवाहक कप्तान अजिंक्य रहाणे का कहना है कि अफगानिस्तान के पहले और ऐतिहासिक टेस्ट में उसके खिलाफ खेलना उनके लिए बेहद सम्मान की बात है. भारतीय टीम अफगानिस्तान के खिलाफ बेंगलुरू में 14 जून से होने वाले एकमात्र टेस्ट मैच में खेलेगी. आईसीसी द्वारा जारी विज्ञप्ति में अजिंक्य रहाणे ने कहा, ‘‘अफगानिस्तान के पहले टेस्ट मैच में खेलना सम्मान की बात हैं. यह उनके लिए एक ऐतिहासिक क्षण है और इस अवसर का हिस्सा बनना हमारे लिए सम्मान की बात है.’’

रहाणे ने कहा, ‘‘अफगानिस्तान के पास एक अच्छी टीम और कुछ प्रतिभाशाली खिलाड़ी हैं, जिन्होंने छोटे प्रारूपों में खुद को साबित किया है. मुझे यकीन है कि वे टेस्ट क्रिकेट में ऐसा करने की उम्मीद कर रहे हैं. भारतीय टीम की तरफ से, मैं उन्हें शुभकामनाएं देता हूं.’’

टेस्ट रैंकिंग में शीर्ष पर काबिज भारतीय टीम इस मैच में नियमित कप्तान विराट कोहली के बिना उतरेगी लेकिन आईसीसी टेस्ट रैंकिंग में चेतेश्वर पुजारा (छठे रैंकिंग), रहाणे (18 वीं रैंकिंग) और लोकेश राहुल (19 वीं रैंकिंग) जैसे बल्लेबाज अपनी स्थिति को मजबूत करना चाहेंगे. गेंदबाजी में पूर्व शीर्ष रैंकिंग वाले रविंद्र जडेजा (चौथे) और रविचंद्रन अश्विन (पांचवें) भी रैंकिंग में ऊपर चढ़ना चाहेंगे.

sports

अफगानिस्तान ने खुद को छोटे प्रारूप में साबित किया है और अब वह टेस्ट क्रिकेट में भी अपनी छाप छोड़ना चाहेंगे. आयरलैंड के बाद टेस्ट क्रिकेट खेलने वाला अफगानिस्तान 12 वां देश बनेगा. आयरलैंड ने पिछले महीने पाकिस्तान के खिलाफ अपना पहला टेस्ट मैच खेला था.

भारत के कार्यवाहक कप्तान अंजिक्य रहाणे ने पहले कहा था कि, ‘‘राशिद खान सचमुच बढ़िया प्रदर्शन कर रहे हैं. विशेषकर छोटे प्रारुप टी-20 में. उन्होंने सनराइजर्स हैदराबाद के लिए शानदार प्रदर्शन किया. वह बेहतरीन गेंदबाज है और हर किसी को इसे स्वीकार करना और इसका सम्मान करना चाहिए. अफगानिस्तान को हल्के में नहीं लिया जा सकता क्योंकि क्रिकेट में और आम तौर पर जिंदगी में आप किसी भी चीज को हल्के में नहीं ले सकते.’’

अफगानिस्तान के कप्तान असगर स्टानिकजई ने कहा, ‘‘हमारे लिए यह एक महान क्षण है क्योंकि हम अपनी टेस्ट यात्रा की शुरूआत कर रहे है. भारत के खिलाफ पहला टेस्ट खेलना सम्मान की बात है. हमें उम्मीद है कि उन्हें कड़ी चुनौती देंगे.’’

Tags:
COMMENT