बहुत कम लोग यह बात जानते होंगे कि न्यूजीलैंड के पूर्व तेज गेंदबाज शेन बौन्ड एक स्ट्रग्लिंग ट्रैफिक पुलिस औफिसर रह चुके हैं. पुराने दिनों को याद करते हुए बौन्ड ने बताया कि कैसे इस मुश्किल नौकरी ने उन्हें दिमागी तौर पर और मजबूत बनाया.

स्पोर्ट्स स्टार लाइव की रिपोर्ट के मुताबिक शेन बौन्ड ने उस वाकये को याद किया जब उन्होंने एक वाहन को गलत साइड से जाने दिया था. इसके कारण दूसरी साइड खड़े लोगों ने उनका मजाक बनाया था. बौन्ड ने कहा, यकीनन वे दिन सबसे अच्छे नहीं थे. लेकिन उन दिनों ने उन्हें ऐसी स्थितियों में डाला, जिनसे वह दिमागी तौर पर और मजबूत हो गए. इन्हीं मुश्किल स्थितियों के कारण उनमें आत्मविश्वास आया और उन्होंने अंतरराष्ट्रीय क्रिकेट के लिए तैयारियां शुरू की.

इसके बाद बौन्ड ने रफ्तार की दीवानगी को लेकर बात की. उन्होंने कहा, मुझे हमेशा रफ्तार से प्यार था और मैं दूसरे गेंदबाजों से ज्यादा तेज होना चाहता था.

उन्होंने कहा, मैं जानता था कि स्लेजिंग मेरे बस की बात नहीं है, लेकिन मैंने सिर्फ गेंदबाजी पर फोकस किया. उन्होंने यह भी कहा कि प्रैक्टिस सेशन के दौरान भी वह खुद के साथ हमेशा ईमानदार रहे और फिजिकल फिटनेस को सबसे ज्यादा महत्व दिया.

इसमें बौक्सिंग ने मुझे यकीन दिलाया कि मैं एक मेहनती इंसान हूं और अन्य गेंदबाजों से बेहतर भी. उन्होंने यह भी कहा कि स्टीव वौ, जैक कैलिस, सचिन तेंदुलकर और ब्रायन लारा का विकेट लेकर उन्हें बेहद सुकून मिला था. ये सभी विश्व क्रिकेट के बड़े खिलाड़ियों में शुमार थे.

फिलहाल शेन बौन्ड न्यूजीलैंड ए साइड के कोच हैं. वह राष्ट्रीय टीम के बौलिंग सलाहकार भी रह चुके हैं. मौजूदा रोल पर बौन्ड ने कहा कि वह अपने अनुभव के जरिए युवा खिलाड़ियों की मदद करते हैं. उन्होंने कहा, मेरा काम खिलाड़ियों से सर्वश्रेष्ठ प्रदर्शन कराना है.

मुझे खुद से या मेरे समय से कुछ लेना देना नहीं है. अब मुझे सिर्फ अपने अनुभव पर भरोसा है, क्योंकि मैं जानता हूं कि दबाव में खेलना कैसा होता है. शेन बौन्ड ने 18 टेस्ट मैचों में 87 विकेट झटके हैं, वहीं 82 वनडे मैचों में उन्होंने 147 खिलाड़ियों को पवेलियन भेजा है

Tags:
COMMENT